[gtranslate]
गुज़रता साल दुनिया भर में भारी उथल-पुथल के नाम रहा। जिसका असर आम लोगों पर तो पड़ा ही, ख़ास लोगों की लाइफ में भी इसका असर देखा गया। कोरोना की गिरफ्त में पूरी दुनिया का हाल बेहाल रहा तो कहीं-कहीं खुशियों की सौगात भी देखी गयीं।
फिल्म इंडस्ट्री समेत हरेक उद्योग इस महामारी के चलते प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से काफी प्रभावित हुए हैं। ऐसे ही बॉलीवुड में भी जहां सिनेमा बंद हुए वहीँ अभिनेता और अभिनेत्रियों ने ओटीटी प्लेटफार्म पर अपने जलवे दिखाए। कुछ न्यूकमर्स की एंट्री हुई तो कुछ बेहद पसंदीदा अभिनेता स्वर्ग सिधार गए। मूवीज कम बनी तो सीरीज पर अधिक प्रशंसा लूटी गयी। वहीँ कुछ अवार्ड फंक्शन्स नहीं हुए तो कुछ आवर्ड शो में इनामो की बारिश को देखा गया। मूवीज फ्लॉप हुई तो कुछ मूवीज को तारीफों से नवाज़ा भी गया। 2021 में बॉलीवुड का सफर कुछ यूँ रहा :- 
 
हिट एंड फ्लॉप मूवीज
 
सिनेमा घरों के बंद हो जाने का बड़ा लाभ ओटीटी प्लेटफॉर्म को मिला। यहां प्रदर्शित कुछ मूवीज को बेहद पसंद किया गया जैसे :- ’83’, ‘शेरनी’, ‘शेरशाह’, ‘तड़प’, ‘दी बिग बुल’, ‘मुंबई सागा’, ‘सूर्यवंशी’, ‘सत्य मेव जयते 2’, ‘शिद्दत’ आदि। इन मूवीज में काम कर रहे मैन रोल से लेकर साइड रोल करने वाले अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को भी काफी प्रशंसा मिली है।
जहां मूवीज हिट हुई तो वहीँ कुछ मूवीज को दर्शकों द्वारा कम भी पसंद किया गया। हालाँकि ये बात भी है कि मूवीज को हमेशा प्रशंसा जनता के द्वारा जनता की डिमांड के कारण ही मिलती है। यदि कोई मूवी जनता की डिमांड को पूरा न कर पाए तो उसे न पसंद कर दिया जाता है। उसी श्रेणी में कुछ मूवीज हैं :- ‘भुवाई’, ‘कागज़’, ‘वेल्ले’, ‘अंतिम’, ‘बंटी और बबली 2’, ‘राधे’, ‘चंडीगढ़ करें आशिकी’, ‘निर्मल’, ‘आनंद की पप्पी’। इस साल बनी यह मूवीज कम लोकप्रिय रहीं इनमे से कई मूवीज सुपर फ्लॉप का दर्जा भी पाई। 
 
सीरीज की बढ़ी डिमांड 
 

जनता द्वारा मूवीज को थिएटर पर देखने से ही संतुष्टि प्राप्त होती है। लेकिन जब थिएटर ही बंद हो जाएं तो ज़ाहिर सी बात है इसका असर जनता पर ज़रूर पड़ेगा। जो स्पष्ट इसी बात से हो जाता है कि लॉकडाउन में सबसे अधिक दर्शको द्वारा सीरीज को देखा गया और सराहा भी गया है। यह सीरीज हैं :- ‘दी फॅमिली मैन 2’, ‘गीली पुच्ची’, ‘अजीब दास्तान’, ‘मुंबई डायरीज 26/11’, ‘एस्पिरेंट्स’, ‘स्पॉटलइट्स’, ‘राज ग्रहण’, ‘कोला फैक्ट्री 2’, आदि।

 
नए गाने और गायक 
 
हमारे मनोरंजन में गानो का बड़ा महत्व है। जहां फिल्मों के दीवाने मौजूद हैं वहीँ गानों के दीवानो की भी कमी नहीं है। गाने हमारे दिनचर्या का जैसे हिस्सा बन गए है। इसी मनोरंजन को बढ़ाते हुए संगीतकार एक से बढ़कर एक गानों से जनता का मनोरंजन करते रहते हैं। वहीँ इस साल कुछ सुपर हिट गानों ने हम सबके दिलों में एक अलग ही जगह बनाई जैसे कि ‘हर पन मौला’, ‘आइला रे आइला’, ‘मन भरेया’, ‘शोर मचेगा’, ‘रातां लंबियाँ’, ‘फिलहाल’, ‘बारिश की जाये’, ‘राँझा’, ‘छोड़ देंगे’, ‘कुसु कुसु’, ‘मेरी रानी नाच’, ‘नदियों पार’, ‘मेरा यार’ आदि। 
 
2021 में कुछ नए संगीतकारों ने अपना जलवा बिखेरा तो कुछ गायक भी उमड़े जिन्होंने जनता को अपनी मधुर आवाज़ से कायल कर दिया इनमे नाम शामिल है जैसे कि ‘बी-पराक’, ‘जुबिन नौटियाल’, ‘गुरु रंधावा’, ‘दर्शन रावल’, ‘असीस कौर’, ‘हार्डी सांधु’, ‘ध्वनि भानुशाली’, ‘मिलिंद गाबा’, ‘सुनंदा शर्मा’, ‘स्टेबिन बेन’, ‘अफसाना खान’ आदि। 
 
 शादियाँ, रिलेशनशिप्स और डिवोर्स 
यह वर्ष ज़िन्दगी के उतार चढ़ाव के साथ-साथ खुशियों की सौगात भी लेकर आया। जहां रिश्ते में सफ़ेद बादल छाए वहीं नए रिश्तों ने ज़िन्दगियों को रंगीन भी किया। बॉलीवुड में कई नए जोड़े बने जिन्होंने ज़िन्दगी भर साथ निभाने की कस्मे भी खायीं। कुछ शादी को लेकर काफी चर्चा में रहे तो कुछ ने रिलेशनशिप्स को उजागर किया। इस वर्ष नए जोड़े बने वरुण धवन और नताशा दलाल, दिए मिर्ज़ा और वैभव रेखी, यामी गौतम और आदित्य धार, रिया कपूर और कारन भूटानी, राजकुमार राव और पत्रलेखा, कैटरीना कैफ और विक्की कौशल। 
 
रिश्तो के बंधन में जहाँ बंधना जितना आसान होता है उससे कहीं ज़्यादा कठिन उनसे दूर जाना होता है। ऐसे ही कुछ सेलिब्रिटीज ने अपने रिश्ते को ख़ुशी के साथ अलविदा कहा और नए सफर की शुरुआत की जिसमे शामिल हैं आमिर खान और किरण राव, अरबाज़ खान और मलाइका अरोरा, ऋतिक रोशन और सुज़ैन खान, अनुराग कश्यप और कल्कि कोचलिन, करिश्मा कपूर और संजय कपूर। 
 
अवार्ड्स
 
यह वर्ष कश्मकश में गुज़रा जहां बहुत सारे काम अधूरे रह गए और कुछ जो मुकम्मल न हो सके। इतनी परेशानियों और दिक्कतों के बाद भी बॉलीवुड के महारथियों ने हार नहीं मानी। कठिनाइयों के बाद भी जीत पर अपना नाम लिखने वालों में नाम शामिल किये गए जिनको 66वें फिल्मफेयर अवार्ड में तालियों की गर्माहट के साथ पुरुस्कारों से नवाज़ा गया। ‘बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला अभिनेता इरफ़ान’, ‘बेस्ट फीमेल एक्ट्रेस अवार्ड मिला तापसी पन्नू’, ‘नेशनल फिल्मफेयर अवार्ड मिला कंगना रनौत’, ‘बेस्ट डायरेक्टर अवार्ड मिला ओम रॉउट’, ‘बेस्ट क्रिटिक एक्टर अमिताभ बच्चन’, ‘बेस्ट क्रिटिक एक्ट्रेस अवार्ड मिला तिलोत्तमा शोरने’, ‘बेस्ट म्यूजिक एल्बम अवार्ड मिला लूडो फिल्म’, ‘बेस्ट क्रिटिक फिल्म अवार्ड मिला ईब अल्लये ओ’, ‘बेस्ट लिरिक्स अवार्ड मिला संगीतकार गुलज़ार’, ‘बेस्ट कोरियोग्राफी अवार्ड मिला फराह खान’, बेस्ट स्टोरी अवार्ड ‘तप्पड़’ मूवी के नाम रहा।
न्यूकमर्स और डेथ्स   
 
इस साल बॉलीवुड में काफी न्यूकमर्स की एंट्री देखने को मिली वहीँ कई दिग्गज लोगों ने हमेशा के लिए हमारा साथ छोड़ दिया। नए उत्साह और एनर्जी के साथ बॉलीवुड में नए चेहरों को काफी सराहा भी गया। इन चेहरों में शामिल हैं मनुष्य चिल्लर, यहां शेट्टी, इसाबेल कैफ, शालिनी पांडेय, रष्मिका मुंडान्ना, लक्ष्या, शार्ली सेटिया, पालक तिवारी, प्रणिता सुभाष आदि।
जहां नए चेहरों ने उत्साह को बढ़ाया दूसरी तरफ दिल से जुड़े पुराने तार टूटने का दुःख भी हुआ। स्वर्ग जाने वाले नेताओ की छवि हमेशा यादो के सहारे साथ रहेगी वह हैं :- ‘दिलीप कुमार’, ‘सिद्धार्थ शुक्ला’, ‘पुनीत राजकुमार’, ‘घनश्याम नायक’, ‘सुरेखा सिकरी’, ‘अमित मिस्त्री’, ‘अनुपमा श्याम’, ‘राज कौशल’ और ‘राजीव कपूर’।

You may also like

MERA DDDD DDD DD