[gtranslate]
district

रसूखदार के आगे ग्रामीण

रसूखदार के आगे ग्रामीण
दीपक जोशी
स्कूल मालिक ने गांववासियों से उनके आने-जाने का रास्ता छीन लिया, लेकिन कोई उनकी गुहार नहीं सुन रहा है। प्रशासन को जनता की परेशानी से कोई फर्क नहीं पड़ता तो विआँाायक रसूखदार के स्कूल को अपनी निधि का पैसा दे जाते हैं

बागेश्वर। अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत जिले की ग्रामसभा पनोरा में चरितार्थ हो रही है। कपकोट तहसील से २ किमी की दूरी पर स्थित उतरौडा पनोरा गांव में ४०-५५ परिवार रहते हैं जो विगत ४ साल से अपने आम रास्ते के लिए संद्घर्ष कर रहे हैं। बताया जाता है कि एक रसूखदार व्यक्ति हरीश बिष्ट ने गांववासियों के आवागमन के रास्ते पर अतिक्रमण कर दिया है। इससे लोगों को भारी परेशानी हो रही है। वे लगातार इसकी शिकायत कर रहे हैं। लेकिन प्रशासन हरीश बिष्ट के आगे प्रशासन नतमस्तक है। विगत ४ वर्षों में किसी दैनिक अखबार ने भी गांव के दर्द को लिखने की हिम्मत नहीं दिखाई। ग्राम प्रधान धन सिंह कपकोटी का कहना है कि गांव के आम रास्ते को पॉलगवुड स्कूल के मालिक हरीश बिष्ट द्वारा विगत ४ साल पहले बंद कर दिया गया है। तब से हम लगातार इसके खिलाफ संद्घर्ष कर रहे हैं। हमने जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी को कई बार पत्रों के माध्यम से अवगत करा दिया है। साथ ही तत्कालीन विधायक ललित फर्स्वाण और वर्तमान विधायक बलवंत भौर्याल को भी गांववासियों ने संयुक्त रूप से अवगत कराया। लेकिन आश्वासनों के अलावा अभी तक उन्हें कुछ नहीं मिल पाया है। लोग बताते हैं, यह रास्ता पिंडारी गिलेश्यर का पुराना रास्ता है। प्रशासन हमारे लिए मर चुका है। आम रासता बंद करके हरीश बिष्ट ने गांव के साथ-साथ आम आदमी के अधिकारों को भी खत्म करने का प्रयास किया है। प्रशासन स्तर से रास्ता खोलने के लिए कई बार आदेश आ गए हैं, लेकिन हरीश बिष्ट के रसूख के आगे गांव वाले डर के साये में जी रहे हैं। दैनिक अखबारों में कई बार गांव के रास्ते में हुए अतिक्रमण के खिलाफ खबरें छापने का प्रयास किया गया, लेकिन खबरें छपी नहीं। सामाजिक कार्यकर्ता राजेंद्र कपकोटी का कहना है कि हरीश बिष्ट ने अपने निजी लाभ के लिए गांव का रास्ता बंद कर दिया है। प्रशासन और विधायक चुप्पी साधे हुए हैं। जब प्रशासन गांववासियों का उनका रास्ता तक नहीं लौटा सकता है, तो उससे क्या उम्मीद रखें कि हमारी मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति हो पाएगी? उन्होंने बताया कि बीजेपी विधायक बलवंत भौर्याल हरीश बिष्ट के विद्यालय में आ कर अपनी विधायक निधि से पैसे दे जाते हैं और गांववासी रास्ते के लिए संद्घर्ष करते रहते हैं। एसडीएम कपकोट का कहना है कि गांववासियों का आम रास्ता रोकने का अधिकार किसी को नहीं है। हां, यह सत्य है कि पॉलगवुड स्कूल के मैदान के बीच से गांववासियों का सदियों पुराना रास्ता है। जहां पर रास्ता रोका गया है वह हरीश बिष्ट का अपना खेत है। पूर्व में कई बार निर्देशित कर दिया गया है कि जब तक गांववासियों के लिए वैकलपिक व्यवस्था नहीं की जाती है तब तक रास्ता न रोका जाए। आवश्यक कार्यवाही करने की द्घोषणा एसडीएम द्वारा की गई है। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या गांववासियों को उनका अपना रास्ता मिल पाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD