[gtranslate]
Country

वैक्सीनेशन पर योगी का यू – टर्न, अब यूपी का आधार कार्ड जरूरी नहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त फैसले लेने के लिए जाने जाते हैं । लेकिन कोरोना काल की महामारी में उनसे वैक्सीनेशन के मामले में भूल हो गई । मुख्यमंत्री ने 18 प्लस वाले लोगों को वैक्सीनेशन लगाने से पहले कह दिया कि यूपी में वही लोग वैक्सीनेशन लगवा पाएंगे जो यहां का आधार कार्ड दिखाएंगे।

इसके बाद प्रदेश ही नहीं बल्कि देशभर में योगी के इस फैसले की चर्चा शुरू हो गई। लोगों ने योगी के इस आदेश को तुगलकी आदेश करार दिया। कहा कि एक व्यक्ति पूरे देश का व्यक्ति है ना कि वह किसी प्रदेश विशेष का। इस आदेश से सबसे ज्यादा गफलत में दिल्ली के लोग आए। क्योंकि दिल्ली में उत्तर प्रदेश के काफी लोग रहते हैं। वैसे भी दिल्ली की सीमा जिला गाजियाबाद और गौतम बुध नगर नोएडा से मिली हुई है।

जैसा कि सुनने में आ रहा है कि दिल्ली में वैक्सीनेशन खत्म हो रही है। तो दिल्ली में रह रहे उत्तर प्रदेश के लोगों को उम्मीद थी कि वह यूपी की वैक्सीनेशन लगवा सकते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना फैसला वापस ले लिया।

24 घंटे में ही मुख्यमंत्री ने यूटर्न लेकर नया आदेश जारी कर दिया । जिसके तहत अब 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेशन लगवाने के लिए आधार कार्ड जरूरी नहीं है। बल्कि वह उत्तर प्रदेश का निवासी हो।

इसके चलते उत्तर प्रदेश शासन ने भी एक आदेश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि यह व्यक्ति जो उत्तर प्रदेश का निवासी है वैक्सीनेशन लगना सकता है। इसके लिए वह उत्तर प्रदेश का स्थाई या अस्थाई कोई भी प्रमाण दे सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD