[gtranslate]
Country

क्यों WhatsApp से बेहतर है Signal App ?

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ज्यादातर लोग एक्टिव रहते हैं जिसमें इंस्टेंट मैसेजिंग WhatsApp को काफी इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए ऐसे में टेक कंपनियां भी यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर कई हाई-टेक इंतजाम करती रहती हैं। लगातार अपने यूजर्स के लिए वॉट्सऐप नए अपडेट भी जारी करता रहता है।

वॉट्सऐप को दुनियाभर में 2 अरब से भी अधिक लोग इस्तेमाल करते हैं। ध्यान देने वाली बात यह है कि दुनियाभर में कोरोना का कहर अब भी खत्म नहीं हुआ है और अब नए प्रकार के वायरस से भी लोगों में डर है। अधिकतर लोग घर से ही काम करने का प्रयास कर रहे हैं। इंटरनेट के जरिए ही कई लोग एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। ऐसे में वॉट्सऐप में लगातार नए अपडेट्स को लेकर लोगों के बीच उत्साह है। लेकिन अब जो WhatsApp की नई पॉलिसी सामने आ रही है। उससे यूजर्स परेशान हैं और अपने लोकप्रिय ऐप को लेकर असमंजस में हैं कि छोड़ दिया जाए या इसे जारी रखा जाए। यूजर्स को WhatsApp की ओर से नई पॉलिसी के नोटिफिकेशन दिए जा रहे हैं।

दरअसल, हाल ही में WhatsApp ने अपनी गोपनीयता नीति को अपडेट कर दिया है। जो उपयोगकर्ता व्हाट्सएप की नई नीति को स्वीकार नहीं करते हैं, उन्हें व्हाट्सएप खाते तक पहुंच प्राप्त नहीं होगी। इसका मतलब है कि व्हाट्सएप का उपयोग करने के लिए, आपको कंपनी की शर्तों को स्वीकार करना होगा।

सिक्योर और प्राइवेट मैसेजिंग के लिए Signal

व्हाट्सएप के सभी अपडेट को ट्रैक करने वाले WABetaInfo ने नई नीति की घोषणा की। उपयोगकर्ताओं को अब 8 फरवरी 2021 तक व्हाट्सएप की नई गोपनीयता नीति को स्वीकार करना होगा। यदि कोई उपयोगकर्ता नई नीति को स्वीकार नहीं करता है, तो उसे अपने व्हाट्सएप खाते तक पहुंच नहीं मिलेगी। उपयोगकर्ता द्वारा व्हाट्सएप खोलने के बाद, स्क्रीन पर एक नई नीति दिखाई देगी। इस नीति को स्वीकार करने के लिए, आपको स्वीकार करें विकल्प पर क्लिक करना होगा। यदि आप पॉलिसी को थोड़े समय के लिए स्वीकार नहीं करना चाहते हैं तो आप ‘Not Now’ विकल्प पर भी क्लिक कर सकते हैं। लेकिन अगर आप इस नीति को स्वीकार करने से इनकार करते हैं, तो आप व्हाट्सएप खाते का उपयोग नहीं कर पाएंगे।

दुनियाभर में इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप Whatsapp ने यूजर्स के बीच अपनी विश्वसनीय जगह बनाई और लगातार नए बेहतरीन फीचर्स देकर खुद को लोकप्रिय भी किया। लेकिन अब Whatsapp नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर लगातार चर्चा में है। दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क भी इस चर्चा से अछूते नहीं रहे हैं। उन्होंने Whatsapp की प्राइवेसी पॉलिसी में हुए बदलावों को लेकर कहा है कि वह तो Signal ऐप का यूज करते हैं। एलन मस्क के इस ट्वीट के बाद तो Signal ऐप को जबरदस्त संख्या में डाउनलोड किया जा रहा है। बहुत से लोग इस ऐप को नहीं जानते होंगे। आइये जानते हैं कि ये ऐप कितने कमाल का है और Whatsapp की अपेक्षा कितना बेहतर है।

पूरी तरह सिक्योर है Signal ऐप

एलन मस्क का कहना है कि इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप Signal दुनिया का सबसे सिक्योर ऐप है। इसके अलावा Signal यूजर्स का पर्सनल डाटा भी नहीं मांगता। जो कि Whatsapp अब प्राइवेसी पाॅलिसी के नाम पर कर रहा है। ऐसे में लोगों का विश्वास Whatsapp से कम होकर Signal पर बढ़ता जा रहा है। सिग्नल की टैगलाइन ‘Say Hello to Privacy’ है।

सिग्नल ऐप की खास बात यह है कि यह पूरी तरह से सुरक्षित है और इसमें यूजर्स को अपना डेटा शेयर करने का कोई खतरा नहीं है। , उपयोगकर्ताओं का निजी डेटा निजी रहता है, इसे कहीं भी साझा नहीं किया जा सकता है। यह उपयोगकर्ताओं को क्लाउड में असुरक्षित बैकअप नहीं भेजता है और यह एन्क्रिप्टेड डेटाबेस को आपके फोन में सुरक्षित रखता है।

यह भी पढ़ें : WhatsApp ने प्राइवेसी पॉलिसी को किया अपडेट, नहीं किया एक्सेप्ट तो डिलीट करना होगा अकाउंट

सबसे खास फीचर

ऐप में एक ऐसा बेहतरीन फीचर भी दिया गया है जिससे आप अपनी चैटिंग को सुरक्षित रख सकते हैं। आपकी चैटिंग की कोई स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता है। इस बेहतरीन फीचर का नाम है Data Linked to You जो एक बार इनेबल करने के बाद कोई भी चैटिंग के दौरान उस चैट का स्क्रीनशाॅट नहीं ले पाएगा। इससे साफ़ है कि इस ऐप पर आपकी चैट पूरी तरह से सुरक्षित है।

https://twitter.com/signalapp/status/1347693761044701186

पुराने मैसेज हो जाते हैं गायब

खासियतों से भरपूर इस Signal ऐप की एक और बेहतरीन खासियत यह भी है कि यह पुराने सभी मैसेज को ऑटोमेटिकली हटा देता है। इसके लिए यूजर्स को 10 सेकेंड से लेकर एक हफ्ते तक का टाइम सेट करने का ऑप्शन मिलता है। सेट किए गए टाइम के दौरान आपके मैसेज अपने आप गायब हो जाएंगे। हाल ही में Whatsapp ने भी डिसअपिरिंग नाम से इस फीचर को पेश किया था।

Whatsapp नई नीति क्या है?

व्हाट्सएप की नई शर्तें इस बात की जानकारी प्रदान करती हैं कि नए साल में उपयोगकर्ताओं के डेटा का उपयोग कैसे किया जाएगा। यह भी जानकारी देता है कि उपयोगकर्ताओं के चैटिंग डेटा को कैसे संग्रहीत और प्रबंधित किया जाता है, साथ ही साथ फेसबुक व्यवसाय के लिए आपकी चैट को कैसे प्रबंधित किया जाएगा। नई नीति में फेसबुक और इंस्टाग्राम का अधिक एकीकरण शामिल है। इसका मतलब है कि अब पहले से ज्यादा यूजर डेटा फेसबुक पर जाएगा। व्हाट्सएप डेटा फेसबुक के साथ पहले से ही साझा किया गया है। लेकिन अब कंपनी ने स्पष्ट किया है कि फेसबुक और इंस्टाग्राम पर एकीकरण अधिक होगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD