Country

गांव की लड़की ने बुलेट चलाई तो हिस्ट्रीशीटर ने चलाई गोली , ‘कैसे बचेंगी, कैसे पढेंगी बेटिया’ ?

एक तरफ देश में चंद्रयान 2 की चर्चा है। आदमी चाँद पर पहुंच रहा है। लेकिन दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में गुर्जरो के इलाके में एक लड़की को बुलेट मोटरसाईकल चलाने को लेकर एक गांव में तनाव पैदा हो गया है। तनाव लड़की के द्वारा गांव में बुलेट मोटरसाईकल को चलाने को लेकर है। गांव के एक व्यक्ति ने अपनी बेटी को कॉलिज जाने के लिए बुलेट मोटरसाईकल क्या दी गांव में एक हिस्ट्रीशीटर ने लड़की के परिवार पर गोली चला दी। दरअसल , हिस्ट्रीशीटर का कहना है कि लड़की के द्वारा बुलेट चलाने पर गांव का माहौल ख़राब हो जायेगा। लड़की की देखादेखी गांव की लड़किया बिंगड़ जाएगी। हलाकि इस मामले में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर और उसके साथियो पर मामला दर्ज कर लिया है। लेकिन इस गांव की बेटिया सहमी हुई है।
 याद रहे कि ग्रेटर नोएडा का यह चर्चित गांव उस विधानसभा और लोकसभा के अंतर्गत आता है जिसके विधायक और सांसद प्रदेश और देश में उस सत्तासीन पार्टी के है जिनकी पार्टी ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा दिया है। ग्रेटर नोएडा के जारचा कोतवाली क्षेत्र के गांव मिलक खटाना गांव के दबंगों को युवती का बुलेट चलाना पसंद नहीं आया। दबंगों ने युवती के बुलेट चलाने का विरोध किया। युवती और उसके पिता को बुलेट नहीं चलाने की धमकी दी।
आरोप है कि 31 अगस्त को गांव में रहने वाले हिस्ट्रीशीटर सचिन और कुल्लू सुनील के घर हथियार लहराते हुए पहुंच गए। फिर बोलने लगे, बेटी को बुलेट चलाने से रोक ले, नहीं तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। सुनील ने उनका विरोध किया तो दोनों ने फायरिंग शुरू कर दी। किसी तरह सुनील बचे और पुलिस कंट्रोल रूम के 100 नंबर पर कॉल कर घटना की सूचना दी। जब तक पुलिस पहुंची दोनों आरोपी फरार हो गए।

हमे 31 अगस्त को एक व्यक्ति ने सुचना दी थी की मिलक खटाणा गांव में एक बदमाश और उसके साथी ने एक परिवार पर गोली चलाई है। बाद में लड़की के पिता की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है। गोली चलाने वाला एक बदमाश हिस्ट्रीशीटर है। गोली लड़की के द्वारा बुलेट मोटरसाईकल चलाने को लेकर चलाई गई है। फिलहाल आरोपी फरार है। पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए दबिश दे रही है।

रणविजय सिंह, एसपी ग्रेटर नोयडा

लड़की दादरी के एक कॉलेज में पढ़ने जाती है। एफआईआर एक हिस्ट्रीशीटर समेत 2 लोगों के खिलाफ दर्ज की गई है। ग्रेटर नोएडा के जारचा क्षेत्र में मिलक खटना गांव में रहने वाले सुनील कुमार मावी किसान हैं। वह 4 बेटियों और 2 बेटों के पिता हैं। छोटी बेटी दादरी के एक कॉलेज में पढ़ाई कर रही है। पढ़ाई के लिए वह बस से दादरी जाती थी। पिता की लाडली बेटी ने बस से कॉलेज जाने में परेशानी होने की बात कही। फिर पिता ने उसे गाड़ी दिलाने की सोची। बेटी का शौक बुलेट से चलना था। सुनील कुमार मावी बेटी का शौक पूरा करने के लिए नई बुलेट ले आए।
बुलेट से बेटी घूमने लगी तो गांव के कुछ लोगों को दिक्कत शुरू हो गई। उनके अहम को ठेस पहुंचने लगी कि एक लड़की बुलेट क्यों चला रही है। पहले तो लड़की को कुछ लोगों ने समझाने की कोशिश की, उन्होंने कहा कि इससे गांव का माहौल ख़राब होगा वह गांव में बुलेट ना चलाए। लेकिन बुलेट चलाने वाली लड़की ने इसका विरोध किया तो मामला सुनील तक पहुंचा। सुनील ने भी दबंगों की बात को तवज्जो नहीं दिया तो उन्हें धमकियां दी जाने लगीं। इतने पर भी जब सुनील कुमार मावी नहीं माने तो उनपर तथा उनकी बेटियों पर गोलिया चला दी गई ।

You may also like