[gtranslate]
Country

नीरव मोदी की वापसी का रास्ता साफ, लेकिन मंजिल अभी दूर

भारतीय बैंको को करोड़ों रुपए का चूना लगाने वाले भगोड़े नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को यूनाइटेड किंगडम के गृहमंत्री ने मंजूरी दे दी है। लेकिन अभी भी नीरव मोदी को भारत लाने का रास्ता साफ नहीं हुआ है। नीरव मोदी के वकील गृहमंत्री के इस फैसले की आलोचना कर रहे है। पंरतु सीबीआई द्दारा प्रस्तुत साक्ष्यों को प्रस्तुत किया। मंजूरी मिलने के तुंरत बाद इस बात की जानकारी सीबीआई ने भारतीय मीडिया से साझा की।

यह भी पढ़े: राह खुली जरूर, लेकिन नीरव मोदी का प्रत्यर्पण नहीं होगा जल्दी

 

लंदन में कोर्ट की सुनवाई के दौरान नीरव मोदी के वकील ने कहा कि भारतीय जेलों की हालात काफी ज्यादा खराब है। जिसके कारण इन्हें वहां सुविधाएं नहीं मिल पाएगी। लेकिन अदालत ने नीरव के वकील की सभी दलीलों को खारिज कर दिया और साथ ही कहा कि उनका भारतीय जेलों में अच्छे से ख्याल रखा जाए। कोर्ट के फैसले के बाद इग्लैंड की गृहमंत्री प्रीति पटेल ने भी नीरव को भारत भेजने की मंजूरी दे दी। मंजूरी मिलने के बाद भी नीरव को भारत लाने में दिक्कत आ रही है। दरअसल जिस लंदन की नीचली कोर्ट इस मामले की सुनवाई कर रही थी। नीरव अभी भी उच्च कोर्ट में अपनी याचिका डाल सकता है।

नीरव के भाई पर भी न्यूयॉर्क में घोखाघड़ी का आरोप लगा था। नेहल मोदी ने दुनिया की सबसे बड़ी हीरा कंपनी में से एक के साथ मिलकर मल्टीलेयर्ड स्कीम के तहत 19 करोड़ की धोखाधड़ी की है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक नीरव मोदी को मुंबई की आर्थर जेल में रखा जाएगा। उनके लिए विशेष सेल भी बनाया जाएगा। मामला नीरव मोदी की तीन कंपनियों, उसके कर्मचारियों और पंजाब नेशनल बैंक का है। पंजाब नेशनल बैंक की बार्टी हाउस शाखा के अधिकारियों के साथ मिलकर 11,000 करोड़ रुपए से अधिक फर्जी तरीकें से धोखाधड़ी अंजाम दिया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD