[gtranslate]
Country

राजस्थान : जल बना ज़हर, सैकड़ों लोग बीमार

राजस्थान में स्थित करौली जिले का दूषित पानी लोगों के लिए जहर बनता जा रहा है। दूषित पानी पीने की वजह से 12 साल के एक लड़के की मौत हो गई। जबकि करीब 125 लोग बीमार हो गए हैं।

 

एक रिपोर्ट के अनुसार हिंडौन जिले के चौबे पाड़ा, दुब्बे पाड़ा, काना हनुमान पाड़ा, पाठक पाड़ा, जाट की सराय, गुलशन कॉलोनी और बाईपास सहित कई कॉलोनियों को जल विभाग की ओर से एक ही टंकी से जल पहुँचाया जाता है। करीब 4 दिन पहले इसी टंकी से आने वाले पानी को पीने के बाद कुछ लोगों को उल्टी, दस्त के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर पुष्पेंद्र गुप्ता कहते हैं कि 3 दिसंबर से अब तक बड़ापाड़ा, कसाईबाड़ा, शाहगंज और बयानिया क्षेत्र के 86 लोगों को जिला अस्पताल के मेडिकल वार्ड में भर्ती कराया गया है। जिसे देखते हुए चिकित्सा विभाग ने कैंप लगाए और 200 से अधिक लोगों की जांच की गई जिसमें लोगों का कहना है कि जल विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से पानी प्रदूषित हो रहा है। लोगों का कहना है कि जिले के कर्मचारियों ने टंकी की अभी एक दिन पहले ही सफाई की गई है और उस पर सफाई की तारीख दो महीने पहले यानी 14 अक्टूबर की तारीख लिख दी है। कई बार ऐसा भी हुआ है कि सफाई की जांच करने वाले कर्मचारियों ने दूषित पानी का सेम्पल तो लिया लेकिन उसकी जांच कराने के बजाए उसे फेंक दिया गया ।

 

एक बेड पर हो रहा तीन मरीजों का उपचार

 

करौली जिले के डॉ. पुष्पेंद्र गुप्ता ने कहा कि पुरानी आबादी क्षेत्र में मेडिकल टीम भेजकर उपचार किया जा रहा है। कई स्थान से पानी के नमूने इकठ्ठा कर जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। अस्पताल में लगातार बढ़ रहे मरीजों के कारण वार्ड फुल हो गए हैं। शिशु वार्ड में भर्ती दर्जनभर बच्चों के साथ ही लगभग दो दर्जन से अधिक रोगियों को जिले के बाहरी अस्पतालों में रेफर कर दिया गया है। क्यूंकि जिला अस्पतालों का इतना बुरा हाल है कि शिशु वार्ड में एक बेड पर दो से तीन मरीजों का उपचार करना पड़ रहा है।

चिकित्सकों ने दिए बचाव के सुझाव

 

लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या देखते हुए चिकित्सकों ने लोगों को बचाव के लिए सुझाव कहा है कि पानी को उबालकर ठंडा करके पानी पीने से खतरे को काम किया जा सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD