[gtranslate]
तिहाड़ जेल का कैदखाना नंवर-7 आर्थिक अपराधों के आरोपियों के लिये आरक्षित है। जी हां यहां भी आरक्षण चलता है, लेकिन दुजे किस्म का। इस आरक्षित जेल में इकानॉमिक आफर्न्डस को रखा जाता है। इस जेल में देश के पूर्व वित्त गृह मंत्री पी- चिदबंरम कल रात से मेहमान हैं। उन्हें जेल मैन्यूअल के हिसाब से एक ऐसे जेल (कमरे) में रखा गया हैं जहां वे अकेले हैं, उन्हें 6 कबंल, एक पंखा और एक चारपाई भी दी गई है। उनके पड़ोस वाले सेल में जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के अध्यक्ष यासिर मोहम्मद ठहरे हैं। देश की सबसे बड़ी जेल तिहाड़ की इसी जेल ने- 7 में कुछ अर्सा पहले चिदबंरम के बेटे कार्ति चिदबंरम बंद रहे थे। आर्थिक अपराध में गिरफ्रतार मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ के भतीजें रातुल पुरी भी इसी जेल में बंद हैं।
चूंकि चिदबंरम को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है इसलिये जेल में उनकी सुरक्षा के लिये विशेष प्रबंध किये जा चुके हैं। वर्तमान में आठ सौ कैदी जेल न- सात में चिदबंरम के संगी-साथी है जिनके साथ यदि पूर्व गृह मंत्री चाहें तो वे 3-30 बजे से 6-30 बजे तक खेल भी सकते हैं। जेल में रात नौ बजे से सुबह 6 बजे तक बंद रखा जायेगा। 6 बजे सुबह उन्हें बाहर घूमने का मौका मिलेगा। साथ ही चाय और दो बिस्कुट भी खाने को मिलेंगे। फिर ब्रेकफास्ट से पहले उन्हें योगा करने और पूजा करने का मौका दिया जायेगा। हर दिन वे दस मुलाकातियों से मिल सकेंगे जिनमें उनका परिवार और वकील भी शामिल होंगे। जेल में चिदबंरम को साऊथ इंडियंन सांभर और इटली के बजाये रोटी, दाल, सब्जी और चावल से संतोष करना पड़ेगा। हां वे चाहें तो जेल की लाइब्रेरी का आंनद ले सकते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD