[gtranslate]
Country

मुजफ्फरनगर में लॉकडाउन का पाठ पढ़ाने पहुंची पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला

मुजफ्फरनगर में लॉकडाउन का पाठ पढ़ाने पहुंची पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला

लॉकडाउन के आठ दिन पूरे होते-होते देश में अराजकता का माहौल पैदा होने लगा है। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में जहां संक्रमण से बचने के लिए घरों में रहने के आदेश को लोग कैद समझने लगे हैं और इसका प्रतिकार कर रहे हैं। हालांकि, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब एक सप्ताह पूर्व 21 दिन के लिए पूरे देश को लॉकडान करने और लोगों को घर में रहने की हिदायत दी थी तब लगता था कि शायद अपनी जान की सलामती के लिए लोग 21 दिन तक घरों में रहेंगे।

लेकिन लॉकडाउन का एक सत्ता सप्ताह होते-होते कुछ लोगों का सब्र टूटने लगा है। पुलिस जब लॉकडाउन का पालन कराने और लोगों को हिदायत देने गांव में पहुंच रही है तो उनकी टीम पर हमले हो रहे हैं। अभी एक दिन पहले की बात है जब बिहार के मधुबनी में पुलिस ने एक मस्जिद में लोगों के जांच के लिए गई तो उन पर ग्रामिणों के तरफ से हमला किया गया। पुलिस को वहां दिल्ली के निजामुद्दीन से लौटे तब्लीगी जमात के लोगों के जमा होने की सूचना मिली थी। पुलिस जब इसकी जांच करने मस्जिद में पहुंची तो उन पर हमला बोल दिया गया। यही नहीं खाकी वर्दी पर फायरिंग भी की गई।

बिहार के बाद अब मामला पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से सामने आया है जहां एक गांव में पुलिस इकट्ठा लोगों को लॉकडाउन का पाठ पढ़ाने लगी तो ग्रामीणों को यह नागवार गुजरा और उन्होंने पुलिस पर हल्ला बोल दिया। ग्रामीणों ने पुलिस पर इस कदर हमला बोला कि उनकी टीम के दारोगा और एक सिपाही को गंभीर रूप से घायल कर दिया।

दारोगा और पुलिस कर्मी को निकटवर्ती हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। जहां से उनकी गंभीर स्थिति होने के चलते मेरठ भेज दिया गया। हमले का आरोप गांव के एक दबंग परिवार पर लगा है, जो पूर्व प्रधान रह चुका है। बताया जा रहा है कि इस हमले में महिलाएं भी शामिल रहीं।

जानकारी के अनुसार, मुजफ्फरनगर के मोरना में पुलिस भीड़ को हटाने गई थी और उसी दौरान ग्रामीणों की भीड़ ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। भोपा थाना क्षेत्र के गाँव मोरना में करहेड़ा मार्ग पर मोरना चौकी प्रभारी लेखराज ने पुलिस टीम के संग ग्रामीणों की इकट्ठा हुए भीड़ को तीतर बितर करने का प्रयास किया तो ग्रामीणों की भीड़ ने पत्थर, लाठी-डंडे और लोहे की रॉड से हमला बोल दिया।  हमले में उप-निरीक्षक लेखराज सिंह और कॉन्स्टेबल रवि कुमार घायल हो गए।

इसके बाद घायलों को भोपा के सरकारी अस्पताल ले जाया गया। जहाँ से उन्हें गम्भीर हालत होने के चलते जिला चिकित्सालय मेरठ रैफर किया गया है। खबरों के मुताबिक, मौके पर पुलिस अधीक्षक देहात नेपाल सिंह, क्षेत्राधिकारी भोपा राममोहन शर्मा, प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार सहित भारी पुलिस बल मौके वारदार पर पहुँच गई है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD