भले ही उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार कानून व्यवस्था के मामले में फिस्सडी साबित हो रही है ,मॉब लिंचिंग से लेकर अल्पसंख्यको की सुरक्षा का मुद्दा योगी सरकार की क्षमता पर प्रश्न चिन्ह लगा रहा हो ,भले ही राज्य की चिकित्सा व्यवस्था पर लगातार जनता त्राहिमाम -त्राहिमाम कर रही हो , राज्य के सीएम उन मुद्दों को छोड़ उत्तर प्रदेश को भगवामय करने की मुहीम में जुट गए है।

अयोध्या में भव्य दीपोत्सव की तरह यूपी सरकार इस बार मथुरा में भी भव्य जन्मोत्सव मनाने की तैयारी में है। इस साल जन्माष्टमी का उत्सव मथुरा में पूरी भव्यता और उल्लास से मनाया जायेगा। जन्माष्टमी उत्सव इस बार पूरे आठ दिनों तक बनाया जायेगा। उत्तर प्रदेश के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा ब्रज विकास परिषद को मथुरा में भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव धूमधाम के साथ मनाने के लिए एक विस्तृत योजना बनाने का निर्देश दिया गया  है। राज्य के संस्कृति मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के अनुसार, इस बार उत्सव में इंडोनेशिया, मलेशिया के अंतर्राष्ट्रीय कलाकारों के साथ असम, मणिपुर और गुजरात कलाकारों द्वारा भी प्रस्तुति दी जाएगी।

उत्सव के दौरान कर्नाटक, गुजरात, मध्य प्रदेश और बिहार के 1000 से ज्यादा लोक कलाकार भी विभिन्न कार्यक्रमों में अपनी प्रस्तुति देते नज़र आएंगे। आठ दिवसीय इस आयोजन के मुख्य आर्कषण में नई दिल्ली स्थित श्रीराम भारतीय कला केंद्र के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली कृष्ण लीला भी शामिल है। मंत्री ने कहा, मथुरा की भौगोलिक निकटता के कारण हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। बरसाना की होली के बाद अब मथुरा की जन्माष्टमी भी पर्यटन को बढ़ावा देने का काम करेगी।

उनके द्वारा यह भी कहा गया कि , समारोह में भगवान कृष्ण के जीवन पर आधारित फिल्में और लेजर शो भी दिखाए जाएंगे। इस दौरान पेंटिंग और रंगोली प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएँगी । मथुरा और वृंदावन के सभी मंदिरों को आठ दिनों के इस उत्सव के लिए अच्छी तरह से सजाया जाएगा। आयोजन में स्कूली बच्चों द्वारा श्री कृष्ण की झांकियां भी प्रस्तुत की जाएंगी। इसके अलावा भाजपा सांसद हेमा मालिनी द्वारा कार्यक्रम में नृत्य प्रस्तुत करने की भी संभावना है। आदित्यनाथ सरकार का मथुरा-वृंदावन में भव्य जन्माष्टमी उत्सव आयोजित करने का उद्देश्य धार्मिक गतिविधियों और समारोहों को पयर्टन से जोड़ने की योजना का हिस्सा है। माना जा रहा है कि योगी सरकार के इस कदम से आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी।

You may also like