[gtranslate]
Country

यूपी की लड़ाई अब लाल टोपी पर आयी

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष  विधानसभा चुनाव होने हैं  एक तरफ योगी सरकार अपने काम को लेकर दूसरी बार सत्ता पर काबिज के लिए बेफिक्र हैं वही विपक्ष राज्य में हो रहे अपराध को लेकर  हमलावर हैं | चुनाव को लेकर अभी से घमासान शुरू हो गया हैं | पूर्व मुख्यमंत्री अखलेश यादव पर तंज कस्ते हुए सीएम योगी ने सदन में  अपने संबोधन के दौरान लाल टोपी पर एक उदारहण देते हुए किस्सा सुनाया ?जिसको लेकर अखलेश यादव आग बबूला हो गए |

सीएम योगी ने सदन में अपने संबोधन के दौरान एक उदाहरण देते हुए टोपी पर सवाल खड़ा किया ? सीएम ने कहा कि, एक टोपी वाला व्यक्ति एक बार गांव में गया तो एक ढाई वर्ष के बच्चे ने अपनी माता से चिपटकर कहा कि, देखो मम्मी गुंडा आया गुंडा। इसके बाद उन्होंने कहा कि समाज में टोपी वालों के प्रति एक नन्हें बच्चे के मन में इस प्रकार की धारणा है।

सदन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लाल टोपी पर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए अखलेश यादव ने कहां  कि  मुख्यमंत्री के भाषण ने सभी मर्यादाएं समाप्त कर दी हैं।सीएम को लाल टोपी से डर क्यों है ? इनसे लैपटॉप बांटने की उम्मीद नहीं है। सदन में लाल टोपी को क्यों उलटा सीधा बोलते हैं ? सरकार 4 वर्षों में पूरी तरह से एक्सपोज हो गई है। जनता इनको वापस नहीं लाएगी। लोगों की आमदनी घटी है। अखिलेश यादव ने यूपी में महिलाओं पर अत्याचार होने का भी  आरोप लगाया।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बजट सहित कई अन्य मुद्दों पर भी  सरकार को घेरा। अखिलेश ने कहा कि, इस बार का बजट थाली देकर हाथ काट लेने जैसा है। अखिलेश ने आगे कहा कि, भाजपा ने संस्थाओं का नुकसान किया है। प्रदेश सरकार सिर्फ केंद्र सरकार की नकल करती है। किसान बिल को लेकर अखिलेश ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि, राज्यसभा में किसान बिल जबरन पास किया गया। संख्या न होने के बावजूद यह बिल पास किया गया।

अखिलेश यादव ने सवाल पूछते हुए कहा कि, सरकार बताए किस क्षेत्र में काम कर रही है ? सरकार बताए कि, कितना इन्वेस्टमेंट आया ? सरकार बताए कि जो प्लांट ला रहे थे, कितने पूरे किए ?  दिल्ली की सरकार बड़े संस्थान बेंच रही है, यूपी सरकार छोटे संस्थान बेंच रही है। सरकार ने संकल्प पत्र के एक भी वादे पूरे नहीं किए। ये सरकार दूसरे के कामों को अपना बताने में जुटी हुई है। ये सरकार अब बस जाने के लिए तैयार है। जनता विदाई के लिए तैयार है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD