[gtranslate]
Country

राज्ययसभा में आज पेश हो सकता है तीन तलाक बिल 

तीन तलाक बिल हर बार की तरह इस बार भी लोकसभा में 25 जुलाई को विपक्ष के भारी विरोध के बीच पारित हो चुका  है लेकिन अब मोदी सरकार के सामने एक बार फिर राज्यसभा में इसे पास करवाने की चुनौती भरा  है।

लोकसभा में तीन तलाक बिल  पास कराने  के दौरान बिल के पक्ष में 303 वोट, जबकि विरोध में 82 मत डाले गए.  वोटिंग से पहले संसद से जेडीयू, टीआरएस, कांग्रेस और टीएमसी  ने  वॉकआउट कर दिया था।  जेडीयू, टीएमसी वोट से अलग रहीं, वहीं, बीजेडी ने बिल के पक्ष में वोट किया था।

केंद्र सरकार और विपक्ष राज्यसभा में एक बार फिर तीन तलाक बिल को लेकर आमने-सामने होंगे. इस दौरान सरकार मुस्लिमों के बीच तीन तालक को दंडनीय बनाने के लिए कुछ गैर एनडीए, गैर-यूपीए पार्टियों पर निर्भर रहेगी। बीजेपी के पास राज्य सभा में बहुमत नहीं है लेकिन उसने बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) और वाईएसआर कांग्रेस के समर्थन से पिछले सप्ताह सूचना का अधिकार विधेयक राज्य सभा में पारित कराया था. ऐसे में सरकार  कई तरह के अंक गणित पर ध्यान दे रही है। जिससे राज्यसभा में तीन तलाक बिल को पास करवाया जा सके।

तीन तलाक बिल को राज्यसभा में पास कराने को लेकर भी बीजेपी को इन दलों से समर्थन की फिर से उम्मीद है, लेकिन चुनौती यह है कि एनडीए के साथी जनता दल द्वारा बिल का समर्थन नहीं करने का एलान किया गया है. ऐसे में  बीजेपी कैसे राज्यसभा में टीआरएस, बीजेडी और वाईएसआर कांग्रेस के समर्थन से तीन तलाक बिल को पास करवा सकती है। राज्य सभा में कुल 241 सांसद हैं और किसी भी बिल को पास करवाने के लिए 121 वोट चाहिए. बीजेपी के 78 सांसद राज्यसभा में हैं तो वहीं अन्य एनडीए  दलों की बात करें तो एआईडीएमके 11, जेडीयू 6, शिवसेना 3, शिरोमणी अकाली दल 3 और निर्दलीय और नामांकित 12 सासंद हैं।  इस तरह एनडीए के पक्ष में कुल 113 सांसदों का वोट तय माना जा रहा है लेकिन यह संख्या मेजोरिटी के 121 के मार्क से 8 वोट कम है ऐसे में अब मोदी सरकार के सामने तीन तलाक बिल को राजयसभा में पारित कराना आसान नहीं है। राजयसभा में एनडीए को बहुमत हासिल नहीं है और उसका सहयोगी दल जेडीयू भी इस बिल के पक्ष में उसके साथ नहीं है। बिल को पास कराने के मकसद से बीजेपी ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी कर सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा है। बीजेपी ने राज्यसभा के अलावा अपने लोकसभा सांसदों को भी सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD