[gtranslate]
Country

तिहाड़ से पैरोल पर रिहा हजारों कैदी लापता

दिल्ली में पिछले वर्ष कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए तिहाड़ जेल में जिन 6,740 कैदियों को पैरोल पर रिहा किया था, उनमें से 3,648 लापता हैं। इससे जेल अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। अब अधिकारी इन कैदियों को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस की मदद मांग रहे हैं। गौरतलब है कि तिहाड़ दक्षिण एशिया की ऐसी बड़ी जेल है, जिसमें 10,026 कैदियों को रखा जा सकता है। लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते जेल प्रशासन ने अस्थमा, एचआईवी, हैपेटाईटिस बी या सी, टीबी जैसी बीमारियों से ग्रस्त कैदियों को पैरोल पर रिहा करने का फैसला लिया था। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक दिल्ली की तीन प्रमुख जेलों-तिहाड़, रोहिणी, मंडोली से 1,184 कैदियों को कोरोनाकाल में रिहा किया गया था। लेकिन इसमें से 112 गायब हैं। जेल अधिकारियों ने जब इसके बारे में कैदियों के परिजनों से संपर्क किया तो पता चला कि वे घर में नहीं हैं। इसी तरह 5,556 जिन अंडरट्रायल कैदियों को अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया उनमें से 2,200 की वापस लौटे। जेल प्रशासन के सूत्रों के मुताबिक कैदियों हिदायत दी गई थी कि वे 6 मार्च तक आत्मसमर्पण कर दे। हालांकि बाद में कैदियों को मार्च ने अंत तक आत्मसमर्पण करने का समय दिया गया था।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष मार्च माह में सुप्रीम कोर्ट के सुझाव पर सभी राज्यों ने दोषी और अंडरट्रायल कैदियों की रिहाई के मानदंड तय करने के उद्देश्य से उच्च स्तरीय कमेटियों का गठन किया था। बाद राज्यों ने कैदियों को 30-60 दिनों की जमानत पर रिहा किया। दिल्ली में हाईकोर्ट के जस्टिस हिमा कोहली के नेतृत्व में कमेटी गठित की गई। कमेटी में दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव (गृह) और अपर मुख्य सचिव सत्य गोपाल और तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल भी शामिल थे। डीजी गोयल से जब लापता कैदियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हमने यूटीपी यानी अंडरट्रायल कैदियों और दोषियों की एक सूची जारी की है। जिन्होंने अभी तक आत्मसमर्पण नहीं किया। कुछ अंडरट्रायल कैदी आत्मसमर्पण कर रहे हैं और कुछ ने अदालतों से नियमित बेल ली है या नहीं इसके बारे में पता लगाया जा रहा है।

तिहाड़ जेल अधिकारियों द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों से पता चलता है कि बुधवार तक जेल में कैदियों के बीच 67 कैदी कोरोना से संक्रमित हैं, जेल कर्मचारियों के बीच 11 सक्रिय मामले थे, जिसमें जेल अधीक्षक और दो जेल के डाॅक्टर शामिल थे। हाल ही में जब जेल अधिकारियों और कैदियों का कोरोना टेस्ट किया गया तो 174 कैदी और 300 कर्मचारी कोरोना पाॅजिटिव पाए गए है। दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमितों के कारण तिहाड़ जेल प्रशासन ने हाल ही में निर्णय लिया कि कैदियों को उनके परिवार वालों से मिलने नहीं दिया जाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD