[gtranslate]
Country

गाजियाबाद में चोरों – लुटेरों का आतंक

 राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अंतर्गत गाजियाबाद जिले में लोग कोरोना के साथ ही चोरी,डकैती, छीना-झपटी जैसी वारदातों से भी आतंकित है। बदमाशों के हौसले इस कदर बुलंद हैं। कि खुले आम अपनी वारदातों को अंजाम दे रहे है। पुलिस प्रशासन का उन्हें कोई खौफ नहीं रह गया है। आपराधिक घटनाओं ने पुलिस प्रशासन की नींद हराम कर दी है। हाल ही में गाजियाबाद के चिरंजीव विहार में कुछ बदमाशों ने एक घर में परिवार को बंधक बनाकर डकैती डाली उन्होंने घर के एक और मासूम को बन्दुक की नोक पर रख कर डकैती की घटना को अंजाम दिया। इस से पहले इंदिरापुरम में कुछ बदमाशों ने घर में नींद का स्प्रे छिड़क कर लाखों रूपये साफ़ कर दिए ।
स्थानीय लोगों का कहना है. कि जैसे-जैसे लॉकडाउन को अनलॉक में बदला जा रहा है। वैसे-वैसे, चोरी, डकैती,जैसी वारदात की प्रतिदिन दिन बढ़ती जा रही है। इसी दौरान मंदिर का चढ़ावा और बेशकीमती मूर्तियों चूराने की कोशिश हुई। हालांकि चोरी की घटना को अंजाम देने आये बदमाशो को पुलिस ने दबोच लिया। मामला नगर कोतवाली बजरिया के जैन मंदिर का है। चोरी के इरादे से आये बदमाश मंदिर परिसर में पहुंचे तो वह गश्त लगा रही पुलिस को देख बदमाशों ने भागना शुरू कर दिया, जहां पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। बदमाशों से पूछताछ में पता चला कि मंदिर की कीमती मूर्तिया और लाखों के चढ़ावे की चोरी की घटना को अंजाम देने आये थे।
आरोपी पुजारी का बेटा मंदिर में अपने कुछ साथियों और अपनी पत्नी के साथ पंहुचा था। पुलिस के मुताबिक चोरी की योजना बनाने में पुजारी की पुत्रवधू भी शामिल है। पुजारी के बेटे और पुत्रवधू समेत नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सीओ फ़र्स्ट डॉ. राकेश मिश्र ने बताया कि बजरिया के जैन मंदिर में चोरी की योजना बनाने के आरोप में हर्षित शर्मा व रविंद्र निवासीगण लाल क्वार्टर विजयनगर, गौरव, दीपक व सुरेंद्र निवासीगण भीमनगर विजयनगर, संदीप निवासी नसरतपुरा डाकखाने वाली गली थाना कोतवाली, राजीव उर्फ राजा और शिवा निवासीगण सुदामापुरी विजयनगर तथा हर्षित की पत्नी को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से एक तमंचा, कारतूस, चाकू, लोहे की रॉड, लोहा कटर मशीन, शीशा कटर, दो नंबर प्लेट, एक कार स्विफ्ट डिजायर कार, एक बाइक बरामद हुई है।

सीओ प्रथम,राकेश मिश्रा ने बताया है कि हर्षित जैन मंदिर के पुजारी  नरेंदर शर्मा का बेटा है। उसका मंदिर में आना जाना लगा रहता था। इस दौरान उसने मंदिर में मोटा चढ़ावा आता और मंदिर की कीमती मुर्तिया देख उसने अपने साथियों के साथ चोरी की योजना बनाई। उसे इस बात की पूरी जानकारी थी कि मंदिर के दान-पात्र में इस वक़्त 3 लाख तक का चढ़ावा पेटी में है। वह अपने साथियों के साथ कार व बाइक से बुधवार 30 जुलाई रात को मंदिर में चोरी  करने पहुंच गया। हर्षित की पत्नी भी उसकी की योजना में शामिल थी। रात के वक्त कोई शक न करे, इसलिए हर्षित ने अपनी पत्नी को भी कार में बैठा लिया। बता दें कि घटना को अंजाम देने के लिए हर्षित ने कुछ साथियों को गरीब मज़दूरों के भेष में फुटपाथ पर लिटा कर रेकी कराई।

सीओ ने बताया कि हर्षित ने अपने कुछ साथियों को रेकी करने के लिए मज़दूरों के वेश में फुटपाथ पर लिटा दिया। सभी चोरी के लिए मंदिर में जाने वाले थे कि इसी बीच पुलिस की गाड़ी गश्त करते हुए पहुंच गई। पुलिस को देखकर सभी भागने लगे, जिनका पीछा कर दबोच लिया गया। सीओ के मुताबिक गेट काटने के लिए लोहे का कटर और मूर्तियों को लूटने के लिए शीशे का कटर ले रखा था। आरोपियों ने शहर में अन्य स्थानों पर भी चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया है, जिसकी पुलिस छानबीन में कर रही है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD