[gtranslate]
Country

 फिर फैसला बदलेंगे पूर्व आईएएस फैसल, लेंगे यूटर्न  

‘मेरे जीवन के आठ महीनों (जनवरी 2019-अगस्त 2019) ने इतना कचरा पैदा किया कि मैं लगभग समाप्त हो गया था। एक कल्पना का पीछा करते हुए, मैंने लगभग वह सब कुछ खो दिया, जो मैंने वर्षों में बनाया था। काम, मित्र, प्रतिष्ठा और सबकी सद्भावना खो दी, लेकिन मैंने कभी उम्मीद नहीं खोई। मेरे आदर्शवाद ने मुझे निराश किया, लेकिन मुझे खुद पर भरोसा है कि मैं अपने द्वारा की गई गलतियों को दुरुस्त करूंगा। जीवन में मुझे एक और मौका मिलेगा। उन आठ माहों की यादों का एक हिस्सा मिट चुका है और मैं उस विरासत को पूरी तरह मिटाना चाहता हूं। इसका बहुत कुछ हिस्सा पहले ही खत्म हो गया है। बची बातों पर भी समय पोंछा मार देगा। ‘

यह ट्वीट जम्मू कश्मीर के पहले यूपीएससी टॉपर पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैसल ने किया है। जिसमे वह अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की बात करते दिखाई दे रहे है। वह आठ महीनों के कार्यकाल को अपनी जिंदगी का बेहद ही बेकार समय बताते हुए अपने साथ आपबीती का जीकर भी कर रहे है। साथ ही वह अपनी गलतियों को दुरुस्त करने की भी बात कर रहे है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर फैसल ने ऐसा क्या किया जिसके लिए वह पश्चाताप कर रहे है। साथ ही वह एक विरासत को पूरी तरह मिटाने की बात भी कर रहे है।
तो आइए हम बताते है आपको फैसल का वह फैसला जिसपर अब उन्हें पश्चाताप हो रहा है।  फ़िलहाल फैसल का राजनीति से मोहभंग हो गया है और वह एक बार फिर अपने उसी अधिकारी वाले रूप में आने वाले है जिसमे वह 2019 से पहले थे। तब वह आईएएस थे और एक चर्चित सरकारी अधिकारी हुआ करते थे। लेकिन राजनीति का भूत उनके सिर पर ऐसा सवार हुआ कि सरकारी नौकरी से इस्तीफा देकर नेता बन गए। लेकिन महज सात माह में ही उनको यह अहसास हो चुका था कि राजनीति करना इतना आसान नहीं है। राजनीति के दौरान शाह फैसल ने मार्च 2019 में जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट नामक पार्टी भी बनाई। इतना ही नहीं बल्कि उस समय फैसल ने अपने गृह राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने की भी तैयारी की थी।
नौकरशाह से नेता बने फैसल ने तब जोश में जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने व अनुच्छेद 370 खत्म करने के विरोध में गिरफ्तारी भी दी थी। तब वह केंद्र सरकार के खिलाफ खड़े नजर आए थे।  लेकिन वक्त के साथ अब उनका नजरिया भी बदल चुका है। अब वही फैसल केंद्र सरकार की नीतियों का समर्थन करते नजर आ रहे हैं। फ़िलहाल वह सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के भाषण के साथ ही ट्वीट को भी साझा करते नजर आने लगे है। शायद इसके चलते ही चर्चाओं का बाजार गर्म है। जिसके अनुसार कहा जा रहा है कि अब बदलते परिदृश्य में फैसल जम्मू कश्मीर के राज्यपाल के सलाहकार बन सकते है। यह भी कहा जा रहा है कि वह अपनी आईएएस की बहाली कराकर पुन अधिकारी बन जाए।

You may also like

MERA DDDD DDD DD