[gtranslate]
Country

‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर राजनीतिक घमासान शुरू

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह के राजनीतिक जीवन पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर लॉन्च होने के साथ ही इस पर राजनीतिक घमासान की शुरूआत भी हो गई है। महाराष्ट्र के युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मांग है कि फिल्म को रिलीज होने से पहले वे खुद देखना चाहेंगे कि कहीं इसमें तथ्यों को गलत ढंग से तो पेश नहीं किया गया है। यदि ऐसा हुआ तो फिल्म नहीं चलने दी जाएगी। इस बीच भारतीय जनता पार्टी द्वारा अपने ट्विटर हैंडल पर फिल्म का ट्रेलर शेयर करना कांग्रेस को काफी खल रहा है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक यह फिल्म एक ऐसे समय में रिलीज होने जा रही है, जब आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कुछ माह का ही समय शेष है। इससे कांग्रेस को परेशानी होनी स्वाभाविक है क्योंकि फिल्म की कहानी उसके खिलाफ जाती है।
दरअसल, ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ फिल्म पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब पर आधारित है। इस फिल्म की कहानी सवाल पैदा करती है कि क्या डॉक्टर मनमोहन सिंह सिर्फ इसलिए प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठे कि उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार नहीं था ? यानी वह एक्सीडेंटल पीम थे ? ऐसा लगता है कि यही बात कांग्रेस को चुभ रही है। 11 जनवरी को रिलीज होने जारी इस फिल्म का ट्रेलर भाजपा द्वारा शेयर किया जाना कांग्रेस का आक्रोश भड़का गया। यही वजह है कि फिल्म को लेकर दोनों पार्टियां आमने-सामने हैं।
कांग्रेस सांसद पीएल पूनिया ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है कि ‘यह भारतीय जनता पार्टी का खेल है। भाजपा जानती है कि उनके कार्यकाल के पांच साल खत्म होने को हैं। जनता को दिखाने के लिए उनके पास कुछ नहीं है, इसलिए वे ध्यान बंटाने के लिए ऐसी तरकीब अपना रहे हैं। लेकिन कुछ हल होने वाला नहीं है।’ दूसरी ओर भाजपा के ट्विटर हैंडल से फिल्म का ट्रेलर पोस्ट किए जाने के सवाल पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा, “क्या हम किसी फिल्म को बधाई शुभकामनाएं नहीं दे सकते, अपनी इच्छा जाहिर नहीं कर सकते…? कांग्रेस स्वतंत्रता की पक्षकार रही है, तो अब वो उसी स्वतंत्रता पर सवाल क्यों उठा रही है…?’
दिलचस्प यह है कि जहां एक ओर कांग्रेस कार्यकर्ता फिल्म को लेकर विरोध करने लगे हैं, वहीं दूसरी ओर जब पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर पर टिप्पणी मांगी गई, तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। दूसरी तरफ अभिनेता अनुपम खेर का कहना है कि फिल्म का विरोध करने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा, ‘देखिए, ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का जितना विरोध होगा, उतनी ही फिल्म को पब्लिसिटी मिलेगी। फिल्म की कहानी जिस किताब पर आधारित है, वो 2014 में आई थी। तब कोई विरोध क्यों नहीं किया गया।’ ऐसा लगता है कि फिल्म को लेकर अबी जो घमासान शुरू हुआ है वह आगामी दिनों में फिल्म के रिलीज होने पर चरम पर रहेगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD