[gtranslate]
Country

बिना कटे प्याज ने जनता को रुला डाला

आज के इस महगाई के दौर में प्याज ने मानो जैसे रोटी का निवाला ही छीन डाला।आज के समय में जैसे सोना आसमान छू रहा है उसी प्रकार मानों सब्जियों में प्याज सोना का ही रूप है।  एक वो समय था जब प्याज 10 -15  रुपए किलो के भाव से मिल जाती थी। लेकिन आज वर्तमान में प्याज के दाम 100 रुपए किलो है , मतलब की 10 गुना कीमत में इजाफा हुआ है।

राजधानी  दिल्ली में प्याज़ 100 रुपए किलो तक बिक रहा है। दिल्ली की आजादपुर मंडी में दो दिन पहले प्याज का थोक भाव 80 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया था। खुदरा में लोग 100 रुपये प्रति किलो प्याज खरीद रहे हैं। प्याज के बढ़ते दामों के बाद केंद्र सरकार ने प्याज आयात करने का फैसला लिया है।

भारत में प्याज की किल्लत की वजह बेमौसम बरसात होने से है। राजस्थान, महाराष्ट्र में हुई बेमौसम बरसात के कारण प्याज की आवक कम हो गई है। जिसके चलते  भारत प्याज की आपूर्ति में कमी को दूर करने के लिए अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान से आयात करने पर विचार कर रहा है। एक दिन पहले केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने बताया कि प्याज आपूर्ति जल्द ही विदेशों से आरंभ होने वाली है, जिसके बाद कीमतें नियंत्रण में रहेंगी।

आजादपुर ऑनियन मर्चेंट एसोसिएशन के प्रेसीडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि बुधवार को मंडी में प्याज की आवक करीब 1,700 टन थी, जोकि दो दिन पहले 1,000 टन से भी कम हो गई थी। कारोबारियों ने बताया है कि सस्ता प्याज आएगा तो खुदरा भाव भी कम हो जाएगा। बाजारों में सब्जी की बढ़ी कीमत से आम लोग इससे परेशान हैं। वहीं  सब्जियां महंगी होने के कारण लोग  जरूरत के हिसाब से ही ले रहे हैं। हरी सब्जी का इस्तेमाल  भी कम कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि  सब्जी की जगह दाल, अंडा और दूध का प्रयोग करना ज्यादा ठीक है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD