[gtranslate]
Country

नेताओं के रहमों-करम पर बचता रहा सुंदर भाटी, हरेंद्र नागर हत्याकांड में उम्र कैद की सजा

ग्रेटर नोएडा के घंघोला निवासी कुख्यात सरगना सुंदर भाटी को हत्या के एक मामले में पहली बार उम्र कैद की  सजा सुनाई गई है। उसे हत्या का दोषी माना गया है। सुंदर भाटी पर आरोप था कि उसने 2015 में ग्रेटर नोएडा के दादूपुर के प्रधान हरेंद्र नागर की हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड में सुंदर भाटी के साथ ही उसके 11 अन्य साथियों को भी इस मामले में दोषी करार दिया गया है।

2015 में हुए चर्चित हरेन्द्र प्रधान हत्याकांड में आज ग्रेटर नोएडा के कुख्यात सरगना सुंदर भाटी और उसके 11 अन्य गैंग के सदस्यों को अपर जिला जज-प्रथम डा. ए.के. सिंह ने हत्या का दोषी माना। सुंदर भाटी के साथ ही उसके गैंग के ऋषिपाल, योगेश, सिंहराज, विकास पंडित, दिनेश भाटी, अनूप, सुरेन्द्र पंडित, यतेन्द्र चौधरी, सोनू, बॉबी व कालू को भी दोषी माना गया है। सुंदर भाटी इस समय सोनभद्र की जेल में बंद है। जबकि सिंहराज प्रतापगढ की जेल में बंद है।

दो दशक से आतंक का प्रयाय बना सुंदर भाटी अभी तक सभी मामलों में गवाहों और पक्षकारों पर दबाव बनाकर बरी होने में कामयाब हो रहा था। लेकिन दादूपुर के प्रधान रहे हरेंद्र नागर की हत्या मामले में आखिर सुंदर भाटी पर सजा हो सकती है । सुंदर भाटी अब तक नेताओं के रहमों – करम पर बचता रहा है ।

 साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में भाटी ने एक राष्ट्रीय  पार्टी के प्रत्याशी को वोट दिलाने के लिए जेल से ही फरमान जारी किया था। सुंदर भाटी की पत्नी पूर्व में दनकौर ब्लॉक की प्रमुख भी रह चुकी है। इसके अलावा सुंदर भाटी सिकंदराबाद विधानसभा (वर्तमान में जेवर विधानसभा ) से चुनाव भी लड़ चुका है । सुंदर भाटी पर गौतम बुध नगर के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष नरेश भाटी की हत्या के भी आरोप लगे थे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD