[gtranslate]
Country

नोएडा में IAS सुहास एलवाई के नेतृत्व में कोरोना को कंट्रोल करने में मिल रही सफलता

नोएडा में IAS सुहास एलवाई के नेतृत्व में कोरोना को कंट्रोल करने में मिल रही सफलता

कोरोना महामारी से उत्तर प्रदेश का जिला गौतम बुद्ध नगर सबसे ज्यादा प्रभावित था। 31 मार्च को जब प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ नोएडा में आकर समीक्षा बैठक की तो उसमें उन्होंने मामले की गंभीरता को समझा। जिला गौतम बुद्ध नगर में बढ़ रहे कोरोना पीड़ितों की संख्या को देखकर सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा कड़े फैसले लिए गए।

सबसे पहले योगी आदित्यनाथ ने जिले के कलेक्टर बीएन सिंह को यहां से विदा किया। तब योगी आदित्यनाथ का सख्त रवैया देखकर पूरे प्रदेश में अधिकारियों में यह संदेश गया कि कोरोना बीमारी में लापरवाही करने वाले ऑफिसरो की लापरवाही को बख्शा नहीं जाएगा।

गत 1 अप्रैल से जिला गौतम बुद्ध नगर की कमान युवा आईएएस ऑफिसर सुहास एल वाई के हाथों में सौंपी गई। इसके बाद कोरोना वायरस की जो रफ्तार पहले थी उस पर ब्रेक लगा। नए जिलाधिकारी के आने के बाद जिला गौतम बुद्ध नगर में काफी हद तक कोरोना वायरस को कंट्रोल किया जा चुका है। कोरोना वायरस पर जीत हासिल करने के लिए फिलहाल जिला गौतम बुद्ध नगर का प्रशासन जी तोड़ मेहनत कर रहा है।

जिले में अगर फिलहाल के कोरोनावायरस के पॉजिटिव केस देखे तो अब तक 63 कोविड 19 से ग्रस्त पाए जा चुके हैं। जिनमें तीन की कल बढ़ोतरी हुई। जो 3 लोग कल कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए उनमें एक सेक्टर 50 तथा दूसरा सेक्टर 93 के एल्डिको तो तीसरा ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी के सेक्टर पी में पाया गया।

हालांकि, जिले को सील किया जा चुका है और गौतम बुद्ध नगर के 12 स्थान हॉटस्पॉट किए जा चुके हैं। फिलहाल गौतम बुद्ध नगर के जिला प्रशासन का ध्यान ग्रामीण इलाकों में है। जहां उन्होंने जागरूकता कार्यक्रम के साथ साथ स्वच्छता अभियान भी चलाए हुए हैं।

गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एल वाई के नेतृत्व में पंचायत राज विभाग के अधिकारी और कर्मचारी दिन-रात जुटे हुए हैं। लोगों को कोविड- 19 नामक महामारी से सुरक्षित करने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत दादरी ब्लॉक दे खंडेरा गिरिराज पुर में जागरूकता कार्यक्रम और स्वच्छता अभियान चलाया गया।

इसी के साथ जेवर की उप जिलाधिकारी गुंजा सिंह और तहसीलदार दुर्गेश सिंह के द्वारा जेवर स्थित साँई शैल्टर होम्स में पहुंचकर वहां रह रहे व्यक्तियों का हालचाल जाना और उनको मास्क वितरण किए। अधिकारियों ने वहाँ रह रहे व्यक्तियों की खाने-पीने की व्यवस्थाओं का भी निरीक्षण किया।

गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी के फैलते संक्रमण के मद्देनजर जेवर में चार शेल्टर होम बनाए गए हैं, जिनमें बाहरी व्यक्तियों के ठहरने और उनके खाने पीने की समुचित व्यवस्था प्रशासन द्वारा की गई है। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा झुग्गी झोपड़ियों में रह रहे व्यक्तियों को भी मास्क वितरण किए गए। इससे कोरोना वायरस के विस्तार को ग्रामीण क्षेत्रों में रोकने में काफी हद तक प्रशासन को सफलता मिलती दिख रही है।

गौतम बुद्ध नगर के जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान के अनुसार जिले में अब तक 12 लोग कोरोना वायरस की बीमारी से ठीक हो चुके हैं। यही नहीं बल्कि फिलहाल जिले में 51 मरीजों का इलाज कई चिकित्सालय में चल रहा है।

यहां यह भी बताना जरूरी है कि जब जिले की कमान पूर्व जिलाधिकारी बीएन सिंह के हाथ में थी तब जिले में 32 लोग कोरोना पॉजिटिव थे। पिछले 10 दिनों में जब से नए जिलाधिकारी ने कमान संभाली है तब से लेकर अब तक यह संख्या बढ़कर 66 हो चुकी है।

You may also like