[gtranslate]
Country

दुर्गा पूजा पंडाल में महिषासुर की जगह गांधी की प्रतिमा को लेकर बवाल

एक और जहां महात्मा गांधी की 153 वीं जयंती मना रहे थे वहीं दूसरी तरह पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा पंडाल में महिषासुर की प्रतिमा की जगह महात्मा गांधी से दिखने वाले चेहरे की प्रतिमा को लेकर बवाल खड़ा हो गया है।पौराणिक कथाओं के मुताबिक माता दुर्गा महिषासुर का वध करती है। समाचार एजेंसी अनुसार विवाद से पहले आल्ट न्यूज के एक पत्रकार द्वारा यह फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की गई थी। जिसके बाद पुलिस के निर्देशनुसार ये फोटो हटा दी गई ताकि त्योहार के दौरान तनाव पैदा न हो सके। लेकिन इसके बावजूद त्यौहार के दौरान इसे तनावपूर्ण और विवादित बनाने की कोशिश की जा रही है।

कोलकाता में रूबी क्रॉसिंग के पास अखिल भारतीय हिंदू महासभा द्वारा आयोजित ‘दुर्गा पूजा’ पंडाल में महिषासुर के जगह महात्मा गांधी की तरह दिखने वाली प्रतिमा के चेहरे को लेकर विपक्षी दलों में टीएमसी समेत कई राजनीतिक दलों ने भी इसकी आलोचना की है। तृणमूल कांग्रेस के कुणाल घोष द्वारा इस मामले को ‘अभद्रता की पराकाष्ठा’ करार दिया गया है । उन्होंने बीजेपी को घेरे में लेते हुए कहा कि ये इनका असली चेहरा है ,बाकी सब ड्रामा है। महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि,हम जानते है कि गांधी जी का हत्यारा किस विचारधारा के खेमे से ताल्लुक रखता था। वहीं इस मामले को लेकर बीजेपी अध्यक्ष सुकांता मजूमदार कहना है कि अगर ऐसा कदम उठाया गया है तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है और हम इसकी निंदा करते हैं। ये विवाद ऐसे समय में हो रहा है जब बीते दिन देश गांधी जयंती मना रहा था।

अखिल भारतीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष चंद्रचूड़ गोस्वामी के मुताबिक आयोजन कर्ताओं का इरादा किसी की भी भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था। वहीं हिंदू महासभा बंगाल प्रांत के अध्यक्ष संदीप मुखर्जी ने कहा कि जो अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने किया, हम उसका समर्थन नहीं करते। हम इसकी आलोचना करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे गांधी जी लेकर अलग विचार हैं, लेकिन यह उनकी आलोचना करने का सही तरीका नहीं है। इस मामले को लेकर उत्तर 24 परगना के टीटागढ़ थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी । कांग्रेसी नेता कौस्तव बागची ने दुर्गा पूजा आयोजनकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। जिसके बाद पुलिस के दिए दिए गए निर्देश पर भारतीय हिंदू महासभा द्वारा मूर्ति का रूप बदल दिया गया।

यह भी पढ़ें : म्यांमार में हिंसा को मेटा दे रहा है बढ़ावा

You may also like

MERA DDDD DDD DD