[gtranslate]
Country

गाड़ी चलाते समय थूका तो लगेगा एक हजार रूपए का जुर्माना

उत्तर प्रदेश के सभी शहरों तथा गांवों को साफ-सुथरा बनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार सिंगापुर माॅडल जैसा एक नियम लागू करने जा रही है। सरकार लोगों में साफ-सफाई की आदत डालने के लिए अब जुर्माने का प्रावधान करने जा रही है। सरकार जो विधेयक कैबिनेट में लाने की तैयारी कर रही है इसके तहत गाड़ी चलाते समय अगर थूका या फिर कोई सामन फेंक कर गंदगी फैलाई तो उनकी खैर नहीं। अब उन्हें 1000 रूपए देना पड़ सकता है। योगी सरकार जल्द ही उत्तर प्रदेश ठोस अपशिष्ठ ‘प्रबंधन, संचालन तथा स्वच्छता’ नियमावली-2021 को कैबिनेट से पास कराने की में तैयारी है।

फिलहाल नगर विकास विभाग ने इस पर लोगों से राय और सुझाव मांगा हैं। इसके साथ ही शहरों में साफ-सफाई के लिए कईं योजनाएं लाने जा रही है। लेकिन आलम यह है कि इसके बावजूद लोग सुधर नहीं रहे हैं। चूंकि गंदगी फैलाने पर जुर्माने के लिए अभी तक स्पष्ट प्रावधान नहीं था। इस लिए सरकार इस विधेयक के माध्यम से अब गंदगी फैलाने वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी है।  सर्वाजनिक स्थान या खुले स्थान पर कूड़ा फेंकने और गंदगी फैलाने पर बड़े शहरों में 500, छोटे शहरों में 400, पालिका परिषद में 300 और नगर पंचायत में 200 रुपए का जुर्माना भरना होगा।

इसी तरह स्कूल, अस्पताल के पास गंदगी फैलाने पर 750 रुपए से लेकर 300 रुपए तक जुर्माने का प्रावधान होगा। थूकना, पेशाब करना, शौच करना, जानवरों को खिलाने के लिए सामान बिखराने पर 250 रुपए से 50 रुपए तक जुर्माना लगेगा। कूड़ा कचरा मिट्टी में दबाने या फिर जलाने और खुला कूड़ा गाड़ी लेकर चलने पर 2000 से एक हजार रुपए तक का प्रावधान किया जाएगा। खुले में जानवरों को शौच कराने पर 500 से 100 रुपए तक जुर्माना लगेगा। इसके अलावा घरों का मलबा सड़क के किराने रखने पर बड़े शहरों में 3000, छोटे शहरों में 2500, पालिका परिषद में 1500 और नगर पंचायत में 1000 रुपए का जुर्माना देना होगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD