[gtranslate]
Country

सोनू सूद ने कहा, एक दो नहीं बल्कि 70,000 से अधिक लोगों की है वेटिंग लिस्ट

सोनू सूद ने कहा, एक दो नहीं बल्कि 70,000 से अधिक लोगों की है वेटिंग लिस्ट

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद को हमने फिल्मों में एक्टिंग करते तो बहुत बार देखा है लेकिन वो केवल एक्टिंग ही नहीं बल्कि अपनी जिंदादिली के लिए भी जाने जाते हैं। पिछले कुछ दिनों से ही सोनू सूद लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर सामने आए हैं। वह लगातार जो लोग अपने घरों को जाना चाहते हैं उन्हें घर पहुंचाने की एक सराहनीय पहल कर रहे हैं।

इस पहल को सफल बनाने के लिए उनके द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया। सोनू सूद पहले बसों के जरिए लोगों उनके घर भेज रहे थे। अब वह कई लोगों को हवाई जहाज और ट्रेन से भी उनके घर पंहुचा चुके हैं। लगातार लोगों की आगे बढ़कर मदद कर रहे सोनू सूद की हर तरफ सराहना की जा रही है। फिल्मों में विलन का रोल करने वाले सोनू सूद अब लोगों के लिए असल जिंदगी में किसी हीरो से कम नहीं हैं। प्रवासी मजदूरों के बीच तो वह मसीहा ही बन गए हैं।

70,000 से ज्यादा लोग वेटिंग लिस्ट में

अब तक सोनू सूद ने मुंबई में लॉकडाउन में फंसे हजारों की संख्या में प्रवासियों को उनके घर ट्रेन और बस के जरिए उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड सहित कई राज्यों में भिजवाया है। अब हाल ही में उनके द्वारा बस और ट्रेन के बाद प्रवासियों को हवाई जहाज से घर भेजा गया है। उनकी इस सरहानीय पहल का यह सिलसिला अभी रुका नहीं है बल्कि अब भी उसी फुर्ती से जारी है।

अब भी सोनू सूद के पास उन लोगों की एक लंबी लिस्ट तैयार हो गई है। जिन्हें उनसे मदद की उम्मीद बंधी है। इसी क्रम में उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि उनके पास एक-दो नहीं बल्कि 70,000 से ज़्यादा लोगों की वेटिंग लिस्ट है। इसके अतिरिक्त भी कई लोग भी उनसे मदद की आस लगाए बैठे हैं।

सोनू ने इस इंटरव्यू में कहा, “जिस दिन हमने बसों के माध्यम से लोगों को कर्नाटक भेजा, उसके बाद से मेरा फोन लगातार बज रहा है। मैं  फोन और मैसेज मिस कर रहा था, इसलिए मैंने ट्रोल फ्री नंबर की शुरुआत की। उस पर फोन की बाढ़-सी आ गई है। 70,000 से ज्यादा लोग वेटिंग लिस्ट में हैं। इसके अलावा भी और भी लोग हैं, जो हमसे मदद की उम्मीद कर रहे हैं।”

View this post on Instagram

घर चलें❣️@goel.neeti

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood) on

इससे पहले भी उन्होंने केरल में फंसे प्रवासी महिला श्रमिकों को चार्टर्ड विमान के माध्यम से ओडिशा भेजा था। ये सभी 167 महिलाएं थी जो कोच्चि की एक फैक्टरी में सिलाई-कढ़ाई का कार्य करती थी। लेकिन कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगे लॉकडाउन के कारण फैक्टरी बंद हो गई थी। जिसके चलते ये सभी परेशान थे।

सभी का दिल जीत रहे हैं सोनू सूद

हाल ही में सोनू सूद ने 177 लड़कियों को भी एयरलिफ्ट करवाकर उनके घर भेजा था। जो केरल के एर्नाकुलम में फंसी हुई थी। एक्टर सोनू सूद के इस प्रशंसीय कार्य के लिए महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सहित कई  बड़े नेता उनकी तारीफ कर चुके हैं।

एक्टर सोनू सूद के द्वारा कल शुक्रवार को मुंबई में लॉकडाउन के कारण फंसे उत्तराखंड के 180 प्रवासियों को सुबह हवाई जहाज से उनके घर भिजवाया है। इन लोगों में प्रेग्नेंट महिलाएं, दिव्यांग और बुजुर्ग लोग शामिल थे। उनके द्वारा इन लोगों से सोशल मीडिया पर उनकी #GharBhejo पहल के तहत संपर्क किया गया था। इसका एक वीडियो काफी वायरल भी हो गया है।

निसर्ग चक्रवात के बीच भी लोगों की मदद

गौरतलब है कि 4 जून, बुधवार को निसर्ग चक्रवात ने महाराष्ट्र और तटीय इलाकों में भारी तबाही मचाई थी। लेकिन इस चक्रवात में भी सोनू सूद का मदद करने का जज्बा कायम रहा और उन्होंने इस दौरान भी कई लोगों की मदद की। ख़बरों के मुताबिक, निसर्ग चक्रवात से प्रभावित 28,000 लोगों की मदद सोनू सूद और उनकी टीम की ओर से की गई। इस दौरान उन्होंने लोगों के लिए रहने और भोजन की उचित व्यवस्था कराके फिर साबित किया की समस्या है तो समाधान भी है।

https://www.instagram.com/p/CArkI6Xg0px/?utm_source=ig_web_copy_link

इससे पहले भी उनकी ओर से रोजाना करीब 40,000 लोगों के लिए भोजन की व्यस्वस्था कराई गई थी। गौरतलब है कि हाल ही में सोनू सूद की ओर से अपने मोबाइल पर आ रहे हैं फोन्स और मैसेज़ का एक वीडियो साझा किया गया था। उन्होंने उन लोगों से माफ़ी मांगी थी, जिनकी वह मदद नहीं कर पा रहे हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD