Country

चिन्मयानंद रंगदारी मामले में एसआईटी ने तीन को गिरफ्तार कर जेल भेजा 

 

आज उत्तर प्रदेश की एसआईटी ने चिन्मयानंद की गिरफ़्तारी के साथ ही तीन अन्य लोगो को भी गिरफ्तार करके जेल भेजा है। यह लोग चिन्मयानंद से 5 करोड़ की फिरौती मांग रहे थे। एसआईटी ने तीनो से पिछले तीन दिन से अपनी गिरफ्त में ले रखा था। जहा उनसे पूछताछ चल रही थी। रंगदारी मामले में इनकी सलिप्ता सामने आते ही इनको गिरफ्तार कर लिया गया था। इन तीनो की गिरफ़्तारी में एक वीडियो साक्ष्य के टूर पर माना गया था। यह वीडियो उस समय बनाया गया था जब पीड़िता को तीन लोग एक गाड़ी में लेकर जा रहे थे।
गौरतलब है कि गत 10 सितंबर को चिन्मयानंद के मालिश कराते हुए16 वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए।  उसके तुरंत बाद एक और वीडियो जारी हुआ था, जिसमें लॉ छात्रा, उसका दोस्त संजय सिंह और कुछ और लोग दिखे थे। ये सभी लोग कहीं जा रहे थे और गाड़ी में आगे बैठा शख्स छात्रा और संजय सिंह को रुपए मांगने को लेकर फटकार लगा रहा था। इस वीडियो में बहुत कुछ ऐसा था, जिससे लग रहा था कि चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने में इन्हीं लोगों का हाथ है।  जांच के तहत एसआईटी को यह वीडियो भी सौंपा गया था। एसआईटी  की टीम ने चिन्मयानंद के अश्लील वीडियो के एवज में पांच करोड़ की फिरौती मांगने के मामले में भी कार्रवाई की है। एसआईटी ने इस केस में पीड़ित छात्रा के दो चचेरे भाइयों विक्रम, सचिन और उसके एक साथी संजय को गिरफ्तार किया है। इन्हें भी मेडिकल जांच के बाद कोर्ट में पेश किया गया और जेल भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि गत 24 अक्टूबर को पीड़ित छात्रा ने स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाते हुए वीडियो वायरल कर दिया था और उसके बाद वह अपने एक मित्र के साथ दिल्ली पहुंच गई थी । इसी दौरान स्वामी चिन्मयानंद के खासमखास जो मामले को कम से कम रुपये में निपटाने में लगे थे, वह भी दिल्ली पहुंचे थे और छात्रा व संजय को लेकर राजस्थान जाने की बात कहकर निकल लिए थे ।

बताते हैं कि यहीं पर ड्राइवर ने सोची समझी रणनीति के तहत स्वामी से पांच करोड़ की रंगदारी मांगे जाने का जिक्र किया तो गाड़ी में मौजूद छात्रा और संजय व सचिन सेंगर एक दूसरे को यह दोष देने में लग गए कि मेसेज भेजने की क्या जरूरत थी, एक बार सोच तो लेते। इन सब बातों का वीडियो बनता रहा ताकि समय आने पर इस वीडियो को सामने लाने पर रंगदारी मांगने वाला केस मजबूत हो जाए।इसी दौरान छात्रा के लापता होने पर पिता के तहरीर देने के साथ मामला चर्चा में आ गया था ।

एसआईटी की जांच के दौरान जब दोनों पक्षों को यह लगा कि अब फंसने वाले हैं तो जहां स्वामी का तेल मालिश वाला वीडियो वायरल कर दिया गया गया ।  वहीं एक गाड़ी में बैठकर छात्रा और उसके दोस्तों का पांच करोड़ की रंगदारी मांगे जाने वाला वीडियो भी वायरल कर दिया गया। दोनों पक्ष की ओर से वीडियो सामने आ जाने से एसआईटी की जांच ने तेजी पकड़ ली और स्वामी पर शिकंजा कसता चला गया। वहीं एसआइटी का भी रंगदारी मांगने वाले मामले में संजय, विक्रम, सचिन सेंगर का भी सिकंजा कसता चला गया ।

You may also like