[gtranslate]
Country

शिवराज पर हमला करने के चकर में खुद फैसं  गए कांग्रेस नेता,बाल  संरक्षण  आयोग का मिला  नोटिस 

मध्य प्रदेश में नेता अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खीयो में रहे है | इस बीच राज्य  से कांग्रेस के एक बड़े नेता अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में है | महज चर्चा में ही नहीं ,बल्कि एक तरफ से मुश्किल में भी हैं क्योकि राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की और से उन्हें नोटिस भी भेज दिया गया है | दरसल हाल में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  नारी सम्मान कार्यक्रम में कहा था कि लड़कियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 साल की जानी चाहिए। इस मुद्दे पर विचार करने की जरूरत है। इसी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा शिवराज सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘जब डॉक्टर बोलते हैं कि  लड़कियाँ 15 साल की उम्र में ही प्रजनन के लायक हो जाती हैं और 18 साल में परिपक्व हो जाती हैं तो शादी की उम्र 21  साल करने की क्या जरूरत है? शिवराज क्या बड़ा डॉक्टर हो गया है? सज्जन सिंह वर्मा के  इस बयान पर अब बवाल हो गया हैं | मामला को विवादित होता देख कांग्रेस ने इसे उनका  व्यक्तिगत विचार कहकर पल्ला झाड़ लिया हैं  | लेकिन  उनके इस बयान को लेकर  राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने उन्हें नोटिस जारी किया हैं |

नोटिस में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने कांग्रेस नेता से दो दिन के अंदर इस बात का स्पष्टीकरण देने का अनुरोध किया हैं  कि नाबालिग  लड़कियों और कानून के खिलाफ इस तरह का भेदभावपूर्ण बयान देने का उनका इरादा उचित कैसे है।

दरअसल, पिछले साल  मध्य प्रदेश उपचुनाव के दौरान पूर्व सीएम कमलनाथ के ‘आइटम’ वाले बयान को लेकर इमरती देवी काफी चर्चा में रही थीं. जिसके कारण कांग्रेस  को उपचुनाव में हार का मुंह भी देखना पड़ा था | और यह मामला चुनाव आयोग से होते हुए सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था।  इसको लेकर भी सज्जन सिंह वर्मा ने इमरती देवी को लेकर एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अगर इमरती देवी पर बयान की वजह से कांग्रेस को नुकसान हुआ तो वे खुद भी चुनाव कैसे हार गईं? उन्होंने आगे कहा कि इमरती देवी जलेबी बन गईं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD