[gtranslate]
Country

अर्णव गोस्वामी को लेकर शिवसेना का भाजपा पर तीखा हमला

अर्णव गोस्वामी की व्हाट्सप चैट लीक होने से रोज नये नये खुलासे हो रहे है 500 पेज की पूरी लिस्ट में और क्या क्या दफ़न हैं ये तो धीर -धीरे पता चलेगा | अर्णव गोस्वामी पर टीआरपी घोटाला की जांच चल रही | ब्रॉडकास्ट रिसर्च ऑडियंस कॉउन्सिल के पूर्व प्रमुख पार्थो दास गुप्ता और इस घोटाले के आरोप में जेल में बंद हैं | रिपब्लिक टीवी के सीईओ विकास खानचंदानी को भी इस घोटाले में गिरफ्तार किया गया था फिलहाल वो जमानत पर बहार  है। अर्णव गोस्वमी और पार्थो दास गुप्ता की चैट के कुछ हिस्से मीडिया में खूब वायरल हो गए हैं जिसको लेकर शिवसेना ने सामना अख़बार के माध्यम से भाजपा पर हमला बोला हैं

शिवसेना ने कहां भाजपा भारत माता का अपमान करने वाले उस अर्णब गोस्वामी के संबंध में मुंह में उंगली दबाकर चुप क्यों बैठी है? हिंदुस्तानी सैनिकों का व उनकी शहादत का अपमान जितना गोस्वामी ने किया है, उतना अपमान पाकिस्तानियों ने भी नहीं किया होगा। इस प्रकरण में जो सच्चाई है, उसे सरकार को बाहर लाना चाहिए। एक तो  ‘पुलवामा’ में हमारे सैनिकों की हत्या देश के अंदर रचा गया राजनीतिक षड्यंत्र था। लोकसभा चुनाव जीतने के लिए इन ४० जवानों का खून बहाया गया, ऐसे आरोप उस समय भी लगे थे। अब अर्णब गोस्वामी की जो व्हॉट्सऐप चैट बाहर आई है, वह उन आरोपों को बल देनेवाली ही है। ऐसा कहने के कारण हैं। ये सब देखकर स्वयं भगवान श्रीराम भी अपना माथा पीट रहे होंगे। लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने इस पर ‘तांडव’ तो छोड़िए, भांगड़ा भी नहीं किया। राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित अनेक गोपनीय बातें गोस्वामी ने सार्वजनिक कर दीं, इस पर भाजपा ‘तांडव’ क्यों नहीं करती? स्वामी द्वारा ४० जवानों की हत्या पर आनंद व्यक्त करना, यह देश, देव और धर्म का ही अपमान है।

शिवसेना ने आगे लिखा है कि इस समय प्राइम वीडिओ पर प्रसारित वेब सीरीज तांडव को लेकर कई जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं तांडव’ के निर्माता और निर्देशक के विरोध में भाजपा ने उत्तर प्रदेश और बिहार में अपराध दर्ज किए, यह अच्छी बात है पर जवानों की शहादत का अपमान करनेवाले गोस्वामी के विरोध में भी भाजपा इस तरह के अपराध जगह-जगह दर्ज करवाती है तो वे सच्चे मर्द कहलाते ।  चीन ने लद्दाख में घुसकर हिंदुस्तानी जमीन पर कब्ज़ा कर लिया। चीन पीछे हटने को तैयार नहीं, इस पर ‘तांडव’ क्यों नहीं होता? गोस्वामी को गोपनीय जानकारी देकर राष्ट्रीय सुरक्षा की धज्जियाँ उड़ाने वाले असल में कौन थे, जरा पता चलने दो!

उधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व रक्षा मंत्री ए. के. एंटनी समेत सुशील कुमार शिंदे, सलमान ख़ुर्शीद और गुलामनबी आजाद ने भी बुधवार को पत्रकार परिषद में इस पूरे मामले की जांच कराने व ‘सरकारी गोपनीयता अधिनियम’ के तहत कार्रवाई करने की मांग की है। पूरे मामले को देशद्रोह ही बताते हुए कांग्रेस नेताओं ने इस मुद्दे को संसद सत्र में उठाने के संकेत भी दिए हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD