[gtranslate]
Country

बिखरता लालू कुनबा, संकट में आर जेडी

बिहार के स्ट्रांग मेन कहलाए जाने वाले लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल अपने नेता के जेल में होने और उनके परिवार में पार्टी के नेतृत्व को लेकर चल रही रार के चलते भारी संकट में है। पार्टी के नेता और विधनसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लोकसभा चुनवों में भाजपा जद ;यूद्ध गठबंध्न के हाथों मिली करारी पराजय के बाद पूरी तरह हताश है। गत शनिवार, 17 अगस्त को पार्टी के विधन दल की बैठक तेजस्वी यादव के न आने चलते रद्द करनी पड़ी। सबसे ज्यादा चैकाने वाली बात यह रही पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर शुक्रवार 16 अगस्त के दिन पार्टी नेताओं और
विधयकों की बैठक में कई बड़े नेता शिकरत करने नहीं पहुंचे। पार्टी के 81 विधायकों में से मात्रा 66 विधयक ही इस बैठक में मौजूद रहे। पटना के राजनीतिक विशलेषकों का मानना है कि लालू यादव के जेल में बंद रहने के चलते पार्टी तेजी से बिखरने लगी है। तेजस्वी यादव का अपने बड़े भाई तेजप्रताप संग पार्टी में वर्चस्व को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले तेजप्रताप ने एक गैरराजनीतिक संगठन ‘लालू राबड़ी मोर्चा’ का गठन कर तेजस्वी के नेतृत्व को खुली चुनौती दे डाली थी। पार्टी सूत्रों का मानना है कि लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद तेजस्वी यादव का पार्टी के वरिष्ठ नेताओं संग वैचारिक मतभेद भी खासा बढ़ गया है। यही कारण है कि वे न तो पार्टी की गतिविध्यिों में सक्रिय हैं, न ही हालिया सपन्न विधानसभा सत्र में ही वे खास एक्टिव रहे। हालांकि सोशल मीडिया, विशेषकर  ट्विटर के जरिए तेजस्वी अपनी उपस्थिति जरूर दर्ज कराते रहते है। कुछ नि पूर्व ही उन्होंने बिहार के मुज्जफरपुर और वैशाली में ‘इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम’ से बच्चों की अकाल मृत्यु पर नीतीश सरकार को घेरा। राजद की सबसे बड़ी समस्या राज्य सरकार द्वारा जेल में बंद लालू यादव पर कड़ी निगरानी करना है। पहले लालू जेल में रहकर भी राजनीतिक गतिविधियो पर खासे सक्रिय रहते थे। अब लेकिन जेल अधिकारी नियमों का कड़ाई से पालन कर रहे हैं। जिसके चलते लालू यादव से जेल में मिलने वालों की संख्या नियंत्रित की गई है, साथ ही मोबाइल जैसी गैरकानूनी
सुविधाओं पर भी पूरी पाबंदी लागू है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD