[gtranslate]
Country

यूपी में ‘AAP’ की जमीन तलाशते-तलाशते कही योगी की जमीन ना खिसका दे संजय सिंह

उत्तराखंड में सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद अब आम आदमी पार्टी जल्द ही उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का उद्घोष करने वाली हैं । विधान सभा चुनाव की तैयारी के लिए राज्यसभा सांसद और प्रदेश प्रभारी संजय सिंह पिछले कई महीनों से फिल्डिंग जमा रहे हैं। यूपी में आम आदमी पार्टी की जमीन तलाशने को फिलहाल संजय सिंह जमीनी मुद्दे उठा रहे हैं ।
इस दौरान वह सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा की आंख की किरकिरी बन चुके हैं। जिसके चलते राज्यसभा सांसद संजय सिंह पर अब तक अलग – अलग शहरों में 16 मुकदमे सत्तासीन पार्टी भाजपा द्वारा किए जा चुके हैं। उधर, भाजपा संजय सिंह पर आए दिन मुकदमे दर्ज कर रही है तो दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी भाजपा को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ रही हैं।
इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि संजय सिंह उत्तर प्रदेश में अब तक 16 बार से भी ज्यादा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया के सामने योगी सरकार की कारगुजारिया उजागर कर चुके है । बहरहाल, आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सबसे खास संजय सिंह कोरोना काल में उत्तर प्रदेश सरकार के लिए सबसे बड़ी मुसीबत बनते दिख रहे हैं।
उत्तर प्रदेश में सबसे पहले संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर सरकार की जमकर घेरा बंदी की थी। उसके बाद वह लगातार कानून व्यवस्था पर प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं । इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने जातिवाद को एक बड़ा मुद्दा बना दिया है। हालत यह है कि जो लोग पहले मुख्यमंत्री योगी को  ‘महाराज जी’ कहते थे, वह अब ‘ठाकुर साहब’ कहते नजर आने लगे हैं। यानी कि प्रदेश में जातिवाद के मुद्दे में जान डाल कर संजय सिंह जनता तक यह आवाज पहुंचाने में कामयाब हो रहे हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में ठाकुरों को बढ़ावा देने में लगे हैं। वह ठाकुरों को आगे कर जातिवाद को बढ़ावा दे रहे हैं ।
मतलब साफ है कि जो पहले से सरकारें करती आई है, उन्ही सरकारों के पदचिन्हो पर योगी सरकार भी चल पडी है । उत्तर प्रदेश में पूर्व में भी प्रदेश सरकारों पर अपनी-अपनी जातियों को बढ़ावा देने के आरोप लगते रहे हैं । चाहे वह कल्याण सिंह रहे हो, चाहे मायावती या मुलायम सिंह यादव या अखिलेश यादव। सभी पर ही अपनी-अपनी जातियों को आगे करने के साथ ही महत्वपूर्ण पदों पर अपनी जाति के लोगों को नियुक्ति के आरोप लगते रहे हैं। कुछ ऐसे ही आरोपों से अब मुख्यमंत्री योगी घिरते जा रहें हैं। इसका श्रेय आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह को जाता है।
फिलहाल, उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी की सक्रियता से सवाल उठने लगे हैं कि इस प्रदेश में लगातार चौपट होती कानून व्यवस्था के चलते विपक्ष चुप क्यों है ?  चर्चा इस बात की भी है कि क्या आम आदमी पार्टी ऐसे में उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्ष के तौर पर उभर कर सामने आ रही है या फिर सुर्खियां बनने के लिए ही प्रदेश के जमीनी मुद्दों को उठा रही है?
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पूरे 6 साल बाद आम आदमी पार्टी की एंट्री हो रही है। इससे पहले वह 2014 के लोकसभा चुनाव में 2 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार चुकी हैं । तब वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने चुनाव लड़ा था। हालांकि, दोनों ही जगह से आप चुनाव हार गई थी। एक बार फिर 2022 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी संजय सिंह के नेतृत्व में हुंकार भरती नजर आ रही है ।
उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों की तैयारी के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने अपने प्रयास युद्ध स्तर पर करने शुरू कर दिए हैं । इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा रहा है कि आम आदमी पार्टी गांव – गांव तक ऑक्सीमीटर अभियान चला रही हैं। इस अभियान के तहत गांव-गांव में ऑक्सीमीटर पहुंचाए जा रहे हैं। जिससे कोरोना पर नियंत्रण लगाया जा सके।
ऑक्सीमीटर अभियान के साथ ही उत्तर प्रदेश के एक लाख से ज्यादा गांवों तक पहुंच बनाने के लिए आम आदमी पार्टी ने 40 हजार लोगों की टीम तैयार कर दी है।   चार  – चार लोगों की टीम 10,000 टीम बनाकर हर गांव से फीडबैक लेगी और पार्टी का मजबूत आधार बनाएगी। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की रिहर्सल के तौर पर ही आगामी दिनों में होने वाले पंचायत चुनाव में भी आम आदमी पार्टी हिस्सा लेगी। पंचायत चुनावों के परिणाम आने के बाद तय हो जाएगा कि आप का जनाधार यूपी के गांवों तक कितना पहुंच पाया है।
आने वाले दिनों में हो सकता है उत्तराखंड की तरह ही उत्तर प्रदेश में भी आम आदमी पार्टी सभी सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर दे। हालांकि अभी उत्तर प्रदेश में आम आदमी पार्टी का संगठन बूथ स्तर तक मजबूत नहीं हो सका है । लेकिन जिस तरह से संजय सिंह के जमीनी मुद्दों पर आम आदमी पार्टी भरपूर प्रशंसा मिल रही है उससे हो सकता है कि आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री योगी की जमीन हिलाने में आप की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाए

You may also like

MERA DDDD DDD DD