Country Indian Economy Latest news

फेडरल रिजर्व के ब्याज में गिरावट के कारण रुपया हुआ 25 पैसा कमजोर

अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने बुधवार को इस साल दूसरी बार अपनी बेंचमार्क ब्याज दर में कटौती की, लेकिन नीति समिति विभाजित है, जिसमें 10 में से तीन मतदान सदस्यों ने असहमति जताई।

फेड की नीति निर्धारण फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (FOMC) ने नीतिगत ब्याज दर को 25 बेसिस पॉइंट्स से कम करके 1.75 से 2.0 प्रतिशत के लक्ष्य सीमा तक पहुंचाया, जैसा कि अपेक्षित था, और अब 2018 में चार ब्याज दरों में वृद्धि के आधे पर वापस खींच लिया है।

“हालांकि घरेलू खर्च में तेज गति से वृद्धि हो रही है, व्यापार स्थिर निवेश और निर्यात कमजोर हो गए हैं।”

( फेडरल ओपन मार्केट कमेटी)

भारतीय बाजार में फेड कट के कारण शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया बुधवार को 24 पैसे टूटकर 71.36 पर खुला जिस वजह से सुबह के कारोबार में अंतरास्ट्रीय बैंक विदेशी मुद्रा एक्सचेंज बाजार पर भारी उतार चढ़ाव देखने को मिला। डॉलर के मुकाबले रुपया 71.36 पर खुला। इस दौरान रुपया 71.37 के उच्च और 71.15 के निचले स्तर पर भी गया। बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 71.24 पर बंद हुआ था

आज सुबह 10 बजकर 10 मिनट पर डॉलर के मुकाबले रुपया 71.23 पर चल रहा था। मुद्रा कारोबारियों के अनुसार, अमेरिका के फेडरल रिजर्व की संघीय मुक्त बाजार समिति ने बाजार की धारणा के अनुरूप नीतिगत ब्याज दरों में 0.25 प्रतिशत की कटौती की जिससे यह 2 प्रतिशत से घटकर 1.75 प्रतिशत रह गयी है।

 

उन्होंने कहा कि भविष्य में नीतिगत दरों में और कटौती होने की उम्मीद के चलते निवेशकों के बीच सावधानी भरा रुख देखा जायेगा। आरंभिक आंकड़ों के अनुसार बुधवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 959.09 करोड़ रुपये की बिकवाली की इस बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट कच्चा तेल 0.05 प्रतिशत बढ़कर 63.63 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ है।

 

You may also like