Country

रेप आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को किया गया गिरफ्तार

 

 आखिर एक महीने के हाईफाई ड्रामे के बाद यौन उत्पीड़न के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया गया है। चिन्मयानंद की गिरफ़्तारी सुबह सवा आठ बजे हुई। पीड़िता की ओर से विडियो जारी किए जाने के बाद से चिन्मयानंद की गिरफ्तारी की मांग की जा रही थी। खबरों के मुताबिक एसआईटी ने पहले उनका मेडिकल परीक्षण कराया और फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। बुधवार को चिन्मयानंद की खराब तबीयत का हवाला देते हुए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। याद रहे कि भाजपा नेता पर अपने ही कॉलेज की लॉ की छात्रा से रेप करने का आरोप है।
दो दिन से  पूर्व केंद्रीय मंत्री की तबीयत बिगड़ने की खबर सामने आ रही थी । सोमवार शाम से ही चिन्मयानंद को स्वास्थ्य संबंधित शिकायत होने के बाद उनके घर पर ही चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया था । देर शाम तबीयत खराब होने की शिकायत करने के बाद चिकित्सकों के एक दल ने चिन्मयानंद की मेडिकल जांच की थी । मंगलवार को एक बार फिर चिन्‍मयानंद की हालत बिगड़ गई थी । चिन्‍मयानंद का बीपी और शूगर लेवल लो हो गया। उन्‍हें लूज मोशन भी हो रहा है। डॉक्‍टरों की टीम उनका इलाज कर रही थी ।

सूत्रों ने बताया एसआईटी की टीम चिन्‍मयानंद को अरेस्‍ट करना चाहती थी लेकिन तबीयत खराब होने के बाद उसने अपना इरादा बदल दिया। इससे पहले सोमवार को सुबह करीब 10 बजे शाहजहांपुर पुलिस की कड़ी सुरक्षा में एसआईटी छात्रा को लेकर जिला कोर्ट पहुंची थी । छात्रा का बयान कलमबंद कराने के लिए एसआईटी ने उसे जूडिशल मैजिस्ट्रेट गीतिका सिंह की कोर्ट में पेश किया था । करीब पांच घंटे तक चली बयान दर्ज कराने की कार्यवाही के बाद छात्रा पौने दो बजे कोर्ट से बाहर आई।

उसके बाद जब दो दिन तक भी चिन्मयानंद को गिरफ्तार नहीं किया गया तो पीड़ित छात्रा ने आत्मदाह करने तक की चेतावनी दे दी थी। तब छात्रा ने कहा था कि सरकार चाहती है कि वह अपने परिवार के साथ आग लगाकर मर जाये और सरे सबूत ख़तम हो जाए। पीड़िता ने सरकार पर आरोप भी लगाया था कि वह चिन्मयानंद को बचाना चाह रही है।

You may also like