[gtranslate]
Country

रेप और हत्या के आरोपी राम रहीम को हरियाणा सरकार ने दी गुपचुप परोल, उठे सवाल 

डेरा सच्चा सौदा के मुखिया गुरमीत राम रहीम पर हरियाणा सरकार की मेहरबानी बरस पड़ी । इस तथाकथित गुरु पर रेप और हत्या के मामले में उम्र कैद की सजा हो चुकी है। बावजूद इसके हरियाणा की खट्टर सरकार ने गुरमीत राम रहीम को परोल पर भेज दिया। इस दौरान हरियाणा सरकार ने राम रहीम की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस की तीन टुकड़ी राम रहीम की काफिले के साथ तैनात की थी । एक टुकड़ी में 80 से 100 जवान थे । हरियाणा सरकार ने परोल  इतनी गुपचुप तरीके से रखी थी कि राम रहीम की सुरक्षा में तैनात जवानों तक को पता नहीं चला कि  जिस व्यक्ति को वह सुरक्षा घेरे में जेल से हॉस्पिटल ले जा रहे हैं  वह कौन है ?
बताया जा रहा है कि डेरा प्रमुख को कड़ी सुरक्षा के बीच रोहतक जिले से गुड़गांव लाया गया था। जहां वह अपनी बीमार मां से मिलने के लिए पहुंचे। इस मामले पर विपक्ष सरकार पर हावी हो रहा है। यह मामला 24 अक्टूबर का है। लेकिन हरियाणा सरकार पर आरोप है कि उसने किसी को इस पैरोल की कानो कान खबर तक होने नहीं थी ।
 सवाल यह है कि गुपचुप तरीके से राम रहीम को रोहतक की सुनारिया जेल से गुड़गांव अस्पताल तक क्यों ले जाया गया । इस मामले में हरियाणा के रोहतक एसपी राहुल शर्मा की पुष्टि हुई है। उन्होंने कहा है कि हमें जेल सुपरिटेंडेंट से राम रहीम के गुरुगांव दौरे के लिए सुरक्षा व्यवस्था का निवेदन मिला था। हमने 24 अक्टूबर को सुबह से लेकर शाम ढलने तक राम रहीम के काफिले के लिए सुरक्षा उपलब्ध कराई थी।
 गौरतलब है कि 28 अगस्त 2017 को सीबीआई की विशेष कोर्ट ने डेरा प्रमुख राम रहीम को दो महिलाओं के साथ रेप करने और एक पत्रकार की हत्या के मामले में 20 साल की उम्र कैद की सजा सुनाई थी।  16 साल पुराने इस मामले में न्यायालय ने गुरमीत राम रहीम के साथ ही तीन अन्य दोषियों कुलदीप सिंह निर्मल सिंह और कृष्णा लाल को भी उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD