[gtranslate]
Country

देशभर में कई गैंगस्टर्स के ठिकानों पर NIA का छापा, आतंकी नेटवर्क के खिलाफ छापेमारी

बढ़ते अपराधों ,तस्करी , समेत आतंकियों को रोकने के लिए एनआईए (NIA ) द्वारा आज कई राज्यों में एक साथ छापेमारी की जा रही है। एनआईए ने आतंकी नेटवर्क के खिलाफ आज सुबह से ही छापेमारी शुरु कर दी है । ये छापेमारी बिहार , पंजाब, राजस्थान ,हरियाणा व दिल्ली एनसीआर समेत कई राज्यों में की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश के 40 अलग-अलग इलाकों में चल रही इस छापेमारी में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है।

लेकिन छापेमारी के दौरान 6 पिस्टल, एक रिवॉल्वर, एक शॉटगन और गोला-बारूद बरामद किया गया गया है। साथ ही नकदी, आपत्तिजनक दस्तावेज, , ड्रग्स, इलेट्रॉनिक डिवाइस, बेनामी संपत्ति के कागजात और धमकी के खत एनआईए द्वारा जब्त किए हैं। एनआईए के अनुसार देश में आतंक को फैलाने के लिए विदेश से पैसा लाया जा रहा है। जिसे आतंकियों तक पहुंचाया जा रहा है।

दिल्ली पुलिस ने बीते दिनों (यूएपीए ) ‘गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम’ के तहत दो मामले दर्ज किए थे। दर्ज किये गए इन्हीं मामलों के तहत एनआईए ने जांच की शुरुआत की है। ‘एनआईए’ जांच में सामने आया कि विदेशों में बैठे गैंगस्टर और देश के अलग-अलग जेलों में बंद गैंगस्टर अपना एक अलग लेवल का नेटवर्क चला रहे हैं और लगातार वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। इसी के तहत नरेश सेठी जैसे अन्य गैंगस्टरों के ठिकाने पर भी छापेमारी की जा रही है।

गौरतलब है कि पिछले महीने एनआईए सहित कई एजेंसियों ने 11 राज्यों में आतंकवाद के वित्तपोषण में शामिल ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। एनआईए द्वारा अब तक की गई छापेमारी में कई हथियार बरामद किए है। वहीं अब तक इस दौरान पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई ) के कम से कम 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया था । अधिकारियों के अनुसार सबसे अधिक गिरफ्तारियां केरल (22), महाराष्ट्र (20), कर्नाटक (20), आंध्र प्रदेश (5), असम (9), दिल्ली (3), मध्यप्रदेश (4), पुडुचेरी (3), तमिलनाडु (10), उत्तर प्रदेश (8) और राजस्थान (2) में की गयी थी।

क्या है एनआईए

 

“एनआईए” यानी राष्ट्रीय जांच एजेंसी केंद्र सरकार की एक जांच एजेंसी है। इसका कार्य आतंकी गतिविधियों पर रोक लगाना है। इसका गठन मुंबई में आतंकी हमले के बाद किया गया है। दरअसल इस हमले के बाद इस एजेंसी की सख्त जरुरत महसूस की गई । ये एजेंसी केंद्र सरकार के अधीन रहकर आतंकवादी गतिविधियों पर नजर रखती है और ऐसी घटनाओं की जांच करने के साथ उनको समय रहते विफल करने का कार्य भी करती है । राष्ट्रीय जांच एजेंसी का गठन आतंकवाद को धन उपलब्ध कराने पर लगाम लगाने और आतंकी हमलों की घटनाओं और उससे जुड़े लोगों की जांच करना है।

यह भी पढ़ें : तालिबानी शासन में थम नहीं रहा महिलाओं पर अत्याचार

You may also like

MERA DDDD DDD DD