[gtranslate]
Country

पंजाब के लोगों का अंबानी और अड़ानी पर फूटा गुस्सा, जीयो के टावरों को किया क्षतिग्रस्त

कृषि कानूनों को लेकर पंजाब के किसान पिछले 34 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच वार्ता होनी है। लेकिन इन सबके बीच किसानों को सबसे ज्यादा नराजगी है अबानी और अड़ानी से। किसानों का मानना है कि पीएम नरेंद्र मोदी कृषि कानूनों को जरिये अंबानी और अड़ानी को फायदा पहुंचा रहा है। इसी नराजगी के चलते पंजाब के ज्यादातर किसानों और युवाओं ने जीयो के सिम का बहिष्कार भी किया, लाखों की संख्या में जीयो के सिमकार्ड को दूसरी कंपनियों में पोर्ट करवाया गया। अब किसानों ने पंजाब में जीओ के 1500 मोबाइल टावरों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। राज्य के कई हिस्सों में इन टावरों को दी जाने वाली बिजली भी बंद कर दी है और साथ में लोगों ने केबल भी काट दिेए हैं।

राज्य में जीयो के 9 हजार टावर हैं। सूत्रों ने बताया कि किसान टेलीकॉम टावर को नुकसान पहुंचाने के लिए बिजली सप्लाई रोक दे रहे हैं। एक मामले में तो टावर साइट पर लगा हुआ जेनरेटर को लोग उठा ले गए और स्थानीय गुरुद्वारे को दान दे दिया। वहीं जियो कर्मचारियों को धमकी देने और भाग जाने के वीडियो भी वायरल हो रहे हैं। निश्चित तौर पर इन हमलों ने टेलीकॉम सर्विस को प्रभावित किया है ऑपरेटर कानून प्रवर्तन एजेंसीज किसी कार्रवाई के अभाव में कानूनी सर्विस स्वयं ही बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

वहीं टावरों को क्षतिग्रस्त किए जाने पर राज्य के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोगों से अपील की है कि वह इस तरह की गतिविधियों न करें। जिससे आम जनता को नुकसान न हो। उन्होंने लोगों को शांति और धैर्य बनाए रखने के लिए कहा है। इसके अलावा पंजाब के किसानों को भाजपा द्वारा निशाना बनाया जा रहा है, वह उन्हें शहरी नक्सली, खालिस्तानी इत्यादि नामों से संबोधित कर रहे है। इसके जवाब में कैप्टन ने कहा कि भाजपा शहरी नक्सलियों, खालिस्तान आदि जैसे आक्रामक नामों को बुलाकर किसानों को बदनाम करना बंद करें। न्याय के लिए यह किसानों की वास्तविक लड़ाई है। मुख्यमंत्री ने कहा, अगर भाजपा अपने अस्तित्व और हक के लिए लड़ रहे दुखी नागरिकों के बीच प्रतिष्ठित नहीं हो सकती, तो उसे पीपुल्स पार्टी होने का सारा ढोंग छोड़ देना चाहिए।

You may also like

MERA DDDD DDD DD