[gtranslate]
Country

हाईपरलूप के जरिए 35 मिनट में पुणे-मुंबई का सफर होगा तय ,पीएम मोदी रख सकते हैं आधारशिला

विधानसभा चुनाव से पहले महाराष्ट्र सरकार द्वारा मुंबई और पुणे के लोगों को एक महत्वपूर्ण तोहफा देने का ऐलान किया गया है। मुख्यमंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार सितंबर में प्रधानमंत्री मोदी के हाथों पुणे में मुंबई-पुणे हाईपरलूप सेवा के लिए आधारशिला रखे जाने की योजना है। देश की पहली बुलेट ट्रेन के बाद दुनिया की पहली हाईपरलूप सेवा के लिए अगले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथो ही भूमि पूजन होगा। इस हाईपरलूप से मुंबई से पुणे की यात्रा सिर्फ 35 मिनट में पूरी हो सकेगी।

एक अधिकारी द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री के वॉररुम में इन दिनों हाईपरलूप परियोजना की तैयारी चल रही है। पहले चरण में 11.80 किलोमीटर का कार्य पूरा किया जाएगा। जबकि दूसरे चरण में बाकी 105.7 किलोमीटर का कार्य पूरा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि भूमिगत मेट्रो के एक किलोमीटर मार्ग के निर्माण पर एक हजार करोड़ का खर्च आता है। एलिवेटेड मेट्रो मार्ग पर खर्च करीब 350 करोड़ प्रति किलोमीटर है जबकि हाईपरलूप के एक किलोमीटर पर लगभग 400 करोड़ रुपए का खर्च अपेक्षित है। इस परियोजना को पूरा करने में 9 साल का समय लगेगा। इसके पहले बीते 30 जुलाई को राज्य मंत्रिमंडल ने हाइपरलूप ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम प्रोजेक्ट को मंजूरी दी थी।
 गौरतलब है कि दुनिया में यह पहली बार है, जब किसी सरकार द्वारा पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए हाइपरलूप टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के लिए स्वीकृति दी गयी है। हाइपरलूप तैयार होने के बाद मुंबई-पुणे का सफर महज 23 मिनट में तय हो सकेगा और साथ ही सहज भी। अभी सड़कमार्ग से यह दूरी साढे तीन घंटे में पूरी होती है। वर्जिन हाइपरलूप वन के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार दुनिया में हाइपरलूप प्रौद्योगिकी के पहले समर्थकों में से एक है। इस परियोजना को लेकर वर्जिन हाइपरलूप वन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जे वाल्डर ने कहा है कि ‘इतिहास रचा जा रहा है।जाहिर है कि महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव अक्टूबर -सितम्बर में होने है और इससे पहले इस योजना का होना बीजेपी को फायदा पहुंचा सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD