[gtranslate]
Poltics

मध्यप्रदेश की राजनीति में नया मोड़, सिंधिया का BJP में आते ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नाराज

मध्यप्रदेश की राजनीति में नया मोड़, सिंधिया का BJP में आते ही राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नाराज

मध्यप्रदेश कांग्रेस के बागी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बुधवार दोपहर को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हो गए। सिंधिया के इस्तीफे के बाद 22 अन्य विधायकों ने भी अपना इस्तीफा कांग्रेस पार्टी को सौंप दिया था। ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से मध्यप्रदेश बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा नाराज बताए जा रहे हैं। क्योंकि प्रभात को लगता है कि उनकी राज्यसभा की सीट छीन कर सिंधिया को दे दी जाएगी। कहा जा रहा है कि प्रभात झा पार्टी से इस्तीफा दे सकते हैं।

खबरें आ रही है कि सिंधिया को बीजेपी में मंत्री पद और राज्यसभा का सांसद बनाने की शर्तों के साथ पार्टी में शामिल किया जा रहा है। एक तरफ बीजेपी मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार को गिराकर, दोबारा प्रदेश की सत्ता हासिल करने के सपने देख रही है। दूसरी तरफ पार्टी के उपाध्यक्ष के इस्तीफे की खबर ने प्रदेश की राजनीति में नया मोड़ ला दिया है।

मध्यप्रदेश में प्रभात खुद को राज्यसभा सांसद के रुप में देखते है। जिस तरह सिंधिया के इस्तीफा देने से कई विधायकों ने अपना इस्तीफा दिया, उसी तरह अगर प्रभात झा के इस्तीफा देने के बाद कई विधायक बीजेपी से अपना इस्तीफा देते हैं तो मध्यप्रदेश में बीजेपी के लिए सरकार बनाना काफी मुश्किल हो सकता है। इससें प्रदेश की राजनीति और ज्यादा गर्मा जाएगी।

2012 में प्रभात झा ने कहा था कि वह 62 साल की उम्र के बाद राजनीति से संन्यास ले लेंगे। वह 62 साल की उम्र से ज्यादा हो गए हैं और उनकी राज्यसभा सांसदी भी खत्म हो रही है। लेकिन अभी तक प्रभात झा का इस बारे में कोई बयान नहीं आया है। इससे पहले भी प्रभात झा ने सिंधिया पर सम्पति घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया था।

बता दें कि सिंधिया और प्रभात झा में आपसी मतभेद काफी समय से चल रहे हैं। सिंधिया ने कभी भी प्रभात झा को बड़ा नेता नहीं समझा। अब ज्योतिरादित्य भाजपा में शामिल हो गए है और काफी अहमियत के साथ लाए गए है तो प्रभात का अपनी ही पार्टी में रुतबा कम होने की पूरी आशंका है।

बीजेपी ज्वॉइन करते ही सिंधिया जमकर कांग्रेस पर बरसे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने 18 महीनों के बाद भी किसानों के कर्ज माफ नहीं किए हैं। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पहले जैसा संगठन नही रहा है जहां देश की सेवा की जा सकें।

You may also like

MERA DDDD DDD DD