[gtranslate]
Country

चार वर्षों में पांचवी बार केदारनाथ पहुंचे PM मोदी, बोले अगला दशक उत्तराखंड का

‘कहा जाता था कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी पहाड़ के काम नहीं आती। मैंने यह तय किया कि यहां का पानी और जवानी दोनों पहाड़ के काम आएगी। उत्तराखंड से पलायन को रोकना है। अगला दशक उत्तराखंड का है। यहां पर्यटन काफी बढ़ने वाला है।’

यह कहना है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का । मोदी आज सुबह उत्तराखंड के विश्व प्रसिद्ध केदारनाथ धाम पहुंचे। पिछले 4 साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह केदारनाथ का पांचवा दौरा है। पिछले साल वह कोरोना काल के चलते यहां नहीं आ सके थे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने गर्भगृह में करीब 15 मिनट तक पूजन किया और फिर मंदिर की परिक्रमा की। इसके बाद मोदी ने कुछ दिन पहले ही बनें आदि गुरु शंकराचार्य की समाधि स्थल पर शंकराचार्य की प्रतिमा का अनावरण किया। शंकराचार्य की यह प्रतिमा 12 फुट लंबी और 35 टन वजनी है।

इसके साथ ही केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री मोदी ने कई योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया। प्रधानमंत्री ने केदारनाथ में 150 करोड़ रुपए की लागत से शुरू होने वाले कई योजनाओं का शिलान्यास किया। साथ ही उत्तराखंड में करीब 250 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार हुए अलग-अलग बुनियादी ढांचों का भी उद्घाटन किया गया।
इस दौरान उनके साथ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और वर्तमान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहे।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2013 में आई केदारनाथ आपदा का जिक्र करते हुए कहा कि बरसों पहले जो नुकसान यहां हुआ था, वो अकल्पनीय था। मैं तब गुजरात का मुख्यमंत्री था और अपने आप को रोक नहीं पाया था। मैं उस समय केदारनाथ दौड़ा चला आया था। मैंने अपनी आंखों से उस तबाही को देखा था, उस दर्द को सहा था। जो लोग यहां आते थे, वो सोचते थे कि क्या ये हमारा केदार धाम फिर से उठ खड़ा होगा? लेकिन मेरे अंतर्मन की आवाज कह रही थी की केदारनाथ धाम पहले से अधिक आन-बान-शान के साथ खड़ा होगा।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूपी के अयोध्या मंदिर का गुणगान करना नहीं भूलें तथा साथ ही उन्होंने काशी का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा कि अयोध्या को उसका गौरव सदियों के बाद मिल रहा है। दो दिन पहले वहां दीपोत्सव कार्यक्रम था। उत्तरप्रदेश में काशी का भी कायाकल्प हो रहा है। भगवान बुद्ध और भगवान राम से जुड़े जितने भी तीर्थस्थान हैं उन्हें जोड़कर सर्किट बनाने का काम चल रहा है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD