[gtranslate]
Country

दिल्ली के लोगों को अब प्रोफेशनल टैक्स भी देना होगा

नई दिल्ली। कोरोना काल में दक्षिण दिल्लीवासियों के लिए एक बहुत बड़ा झटका यह है कि अब उन्हें प्रोफेशनल टैक्स भी देना पड़ेगा। दक्षिण दिल्ली नगर निगम को अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए यह तरीका सूझा है। इसके अलावा निगम ने संपत्ति की खरीद-फरोख्त पर लगनें वाले ट्रांसफर शुल्क में भी 1% की वृद्धि की है। जाहिर है कि इन दोनों करों से अब दक्षिणी दिल्ली के लोगों पर बोझ बढ़ जाएगा।

गौरतलब है कि इन करों से सम्बंधित प्रस्ताव को एसडीएमसी की स्थायी समिति द्वारा पहले ही पारित किया जा चुका है। आम आदमी पार्टी ने जनता पर इस प्रकार से टैक्स थोपे जाने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की  है। एमसीडी सदन में आम आदमी पार्टी के पार्षदों द्वारा विरोध जताया गया है। साथ ही अब बीजेपी शासित निगम में बीजेपी के पार्षद भी इस प्रस्ताव का विरोध करने के मूड में हैं। जिसके चलते अब निगम के लिए सदन में इस प्रस्ताव को मंजूरी दिलाना एक चुनौती जैसा ही है।

प्रोफेशनल टैक्स के प्रस्ताव के तहत प्रति माह 20 हजार से 50 हजार रुपये कमाने वाले लोगों को 150 रुपये और 50 से अधिक कमाने वाले लोगों को प्रति माह 200 का भुगतान करना होगा। इस कर से निगम को प्रतिवर्ष 50 करोड़ की आय होगी। यह कर उन लोगों को देना होगा जो कंपनियों में काम करते हैं और खुद का रोजगार चलाते हैं।

दूसरी ओर SDMC की ओर से स्थानांतरण शुल्क में 1 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। वर्तमान में महिलाओं को संपत्ति की खरीद पर 2 प्रतिशत और पुरुषों को 3 प्रतिशत हस्तांतरण शुल्क देना पड़ता है, लेकिन बढ़े हुए प्रस्ताव के तहत महिलाओं को 3 प्रतिशत और पुरुषों को 4 प्रतिशत का भुगतान करना होगा। यह शुल्क निगम संपत्ति कर विभाग द्वारा वसूला जाता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD