[gtranslate]
Country

दिल्ली शराब घोटाले में एक और गिरफ्तारी

दिल्ली में उपराज्यपाल के दिए गए निर्देशानुसार कथित शराब घोटाले की जांच ‘सीबीआई’ और ‘ईडी’ जांच एजेंसिया कर रही हैं । अब तक इस मामले में आम आदमी पार्टी के विजय नायर और शराब कारोबारी समीर महेंद्रू को गिरफ्तार किया चुका है। कथित घोटाले की इसी शृंखला में अब सीबीआई द्वारा तीसरी गिरफ्तारी की गई है।

सीबीआई द्वारा अभिषेक बोइनपल्ली की गिरफ्तारी सोमवार को हुई है। घोटाले के संबंध में बोइनपल्ली से सीबीआई हेडक्वार्टर में पूछताछ की जा रही है। जिसके बाद उन्हें अदालत में पेश किया जायेगा। सीबीआई के अनुसार बोइनपल्ली दक्षिणी भारत के कुछ शराब कारोबारियों के लिए कथित तौर पर काम -काज करता है ।आरोपी बोइनपल्ली रॉबिन डिस्ट्रीब्यूशन फर्म से जुड़ा हुआ है। इन पर शराब घोटाले के लिए फर्म के इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया है।

कौन है अभिषेक बोइनपल्ली

अभिषेक बोइनपल्ली एक व्यवसाई है। यह देश में नौ कंपनियों में निदेशक के रूप में काम करता हैं। बोइनपल्ली जिन कंपनियों से जुड़ा है वे कई तरह के उद्योग हैं जैसे अन्य खनन और उत्खनन, रियल एस्टेट गतिविधियों, निर्माण, निर्माण (रसायन और रासायनिक उत्पाद), अन्य सेवा गतिविधियों, कंप्यूटर से संबंधित सेवाओं आदि से हैं। सीबाआई के अनुसार अभिषेक को जब पूछताछ के लिए बुलाया गया उस दौरान वह कथित घोटाले के संबंधित कुछ महत्वपूर्ण सवालों के जवाब देने से बच रहा था। जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

गौरतलब है कि इस आबकारी नीति घोटाले में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी कथित तौर पर शामिल हैं। मुख्यमंत्री केजरीवाल कई बार इनकी गिरफ्तारी का अंदेशा जता चुके हैं। दिल्ली के उपराजयपाल वीरेंद्र कुमार सक्सेना द्वारा दिल्ली सरकार की आबकारी नीति पर सवाल उठाते हुए मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी। साथ ही ईडी भी इस मामले की जांच में जुट गई। दिल्ली सरकार के नई आबकारी नीति लागू करने से देश को 400 सौ करोड़ का नुक्सान हुआ है। ईडी द्वारा कुछ दिन पहले ही इस कथित आबकारी नीति घोटाले में मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया ।जिसके बाद दोनों ही जांच एजेंसियों ने इस मामले के संबंध में मनीष सिसोदिया के घर सहित दफ्तरों पर छापेमारी की थी।

 

यह भी पढ़ें : दिल्ली शराब घोटाले में एक के बाद एक गिरफ्तारी

You may also like

MERA DDDD DDD DD