[gtranslate]
Country

दिल्ली में तीसरी बार लागू ऑड-इवन सिस्टम

ऑड-इवन सिस्टम दिल्ली में तीसरी बार लागू किया गया है l अगर आपकी गाड़ी के नंबर प्लेट का आखिरी नंबर ईवन है यानी कि वहां 2,4,6,8,0 लिखा है तो आप अपनी कार को 4, 6, 8, 10, 12 और 14 तारीख को निकाल सकेंगे l  अगर आपकी गाड़ी के नंबर प्लेट का आखिरी नंबर ऑड यानी बिषम संख्या है, यानी कि 1,3,5,7,9 है तो आप 5, 7, 9, 11, 13 और 15 तारीख को अपनी कार से दिल्ली की सड़कों पर फर्राटा भर सकेंगे l
दिल्ली सरकार ने इस स्कीम को 4 नवंबर से 15 नवंबर तक के लिए लागू किया है l इससे पहले 2016 में ये स्कीम दो बार लागू किया जा चुका है l इसे पहली बार 1 जनवरी से लेकर 15 जनवरी तक लागू किया गया था और दोबारा 16 अप्रैल से लेकर 30 अप्रैल तक l इस नियम के तहत उन गाड़ियों को छूट दी जाएगी, जिनमें सिर्फ महिलाएं होंगी या स्कूल यूनिफॉर्म में कोई बच्चा साथ हो। साथ ही इलेक्ट्रिक वाहनों को भी छूट दी गई है। ड्राइविंग सीट पर अगर कोई महिला है और गाड़ी में पुरुष बैठा हुआ तो भी चालान हो सकता है। सीएनजी से चलने वाली प्राइवेट गाड़ियों को भी इस बार छूट नहीं दी गई है।
दूसरे राज्यों से आने वाली गाड़ियों पर भी यह नियम लागू होगा। इस नियम से आपातकालीन सेवाओं जैसे एंबुलेंस, फायर सर्विस को छूट मिलेगी l राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री की गाड़ियां भी इस नियम के दायरे से बाहर है l इसके अलावा दिव्यांगों को भी नियम से छूट देने का फैसला किया गया है l ये नियम सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक ही लागू रहेगा l नियम का उल्लंघन करने पर भरना होगा 4000 रुपये का जुर्माना l यात्रियों को ऑड-इवन स्कीम के दौरान किसी तरह की दिक्कत न हो इसके लिए दिल्ली सरकार ने 500 एक्स्ट्रा बसों की व्यवस्था की है l ये बसें अलग-अलग रुटों पर चलेंगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा सवारियों को इसका फायदा पहुंच सके l
इस स्किम के पहले दिन उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने घर से साइकिल चलाकर दफ्तर आए। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत अपने ओएसडी की कार से सचिवालय पहुंचे। गहलोत ने कहा, ‘‘मैं करीब दो घंटे तक दिल्ली की सड़कों पर रहा और मैं खुश हूं कि अनुपालन किया जा रहा है और अधिकतर वाहन सम संख्या वाले थे। मैं सभी दिल्ली वालों को सहयोग के लिये शुक्रिया अदा करता हूं।’’वहीं केजरीवाल ने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और श्रम मंत्री गोपाल राय के साथ कार पूल की और दिल्ली सचिवालय पहुंचे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD