[gtranslate]
Country

अब गरबा पर राजनीति, बजरंग दल का फरमान दूसरे धर्म दूर रहे 

 

पहले जब कोई दूसरे धर्म या सम्प्रदाय के लोग किसी दूसरे के तीज त्यौहार में शामिल होते थे तो इसको बहुत अहमियत दी जाती थी। लोग एक दूसरे के कार्यकर्मों में आने जाने को खुशकिस्मती मानते थे। लेकिन अब तीज त्यौहार भी प्रदूषित राजनीति का शिकार हो चले है। इस प्रदूषित राजनीति की शुरुआत उस प्रदेश से हुई है जहा के निवासी देश के प्रधानमंत्री और गृह मंत्री जैसे महत्वपूर्ण पदों पर विराजमान है।

गौरतलब है कि नवरात्रि के दौरान गुजरात में गरबा और डांडिया की धूम रहती है, और लोग जमकर इस त्योहार का आनंद उठाते हैं।  खास बात यह है कि इस गरबा डांस में केवल हिंदू ही नहीं बल्कि अन्य धर्म के लोग भी हिस्सा लेते हैं।  किन्तु अब इस लोकप्रिय गरबा डांस को लेकर बजरंग दल ने फरमान जारी किया है कि दूसरे धर्म के लोग गरबा से दूर रहें। गुजरात में बजरंग दल ने गरबा को लेकर ऐसा विवादास्पद फरमान सुनाकर सामाजिक ताने बाने को विखंडित करने की कुत्सित चाल चली है।

 

इस तरह अब हिन्दुओ के तीज त्योहारों पर भी राजनीति होने लगी है। गुजरात में बजरंग दल ने दूसरे मजहब के लोगों को गरबा की जगह से दूर रहने के लिए कहा है। बजरंग दल के मुताबिक, दूसरे मजहब के लोग हिंदू लड़कियों को लव जिहाद का शिकार बनाते हैं। गरबा से अन्य मजहब के लोगों को दूर रखने के लिए बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गरबा स्थल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी के आसपास इससे संबंधित कई बैनर पोस्टर भी लगाए हैं। गौरतलब है कि गुजरात की परंपरागत नृत्य गरबा दुनियाभर में विख्यात है और राज्य के बाहर भी कई स्थानों पर इसे धूमधाम के साथ मनाया जाता है। 

 

अकेले गुजरात में ही अहमदाबाद, गांधीनगर, राजकोट, सूरत, वडोदरा, भावनगर जैसे कई बड़े शहरों में बड़े पैमाने पर गरबा का आयोजन होता है। अहमदाबाद सहित प्रदेश के कई जगहों पर बड़ी तादाद में गुजरात के मुसलमान भी हिस्सा लेते हैं और यह कई वर्षों से रिवाज में भी है कि मुस्लिम समाज के लोग गरबा में हिंदुओं के साथ शामिल होते हैं और डांस कर भाईचारे का संदेश भी देते हैं। लेकिन अब इस त्यौहार पर धार्मिक कट्टरता के समर्थको ने नया विवाद पैदा कर दिया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD