[gtranslate]
Country

अब पूर्व क्रिकेटर और मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने भी छोड़ा ममता का साथ

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनावी बिगुल बज चुका है। इसी वर्ष मार्च-अप्रैल में विधानसभा चुनाव होना तय है। विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस को लगातार झटके लग रहे हैं। 5 दिसंबर को ममता सरकार के मंत्री तथा पूर्व क्रिकेटर लक्ष्मी रतन शुक्ला ने इस्तीफा दे दिया है। तृणमूल कांग्रेस में अब तक कम से कम 5 नेता अपना इस्तीफा दे चुके हैं। लक्ष्मी रतन शुक्ला पश्चिम बंगाल सरकार में खेल मंत्री थे। 5 दिसंबर को उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अभी वो तृणमूल कांग्रेस से ही विधायक हैं।

सूत्रों की मानें तो लक्ष्मी रतन शुक्ला राजनीति से ही अलग होना चाह रहे थे। मंत्री पद के अलावा उन्होंने हावड़ा के टीएमसी जिला अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया। लक्ष्मी रतन शुक्ला भारत के लिए तीन वनडे खेल चुके हैं। आईपीएल में भी वो कोलकाता नाइट राइडर्स, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के साथ खेल में अच्छा प्रदशर्न कर चुके हैं। विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने राजनीति का रुख किया। वे पश्चिम बंगाल के हावड़ा उत्तर से विधायक हैं। ममता सरकार में उन्हें खेल और युवा मामलों के मंत्री का पद दिया गया।

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को चुनाव से पहले झटके पर झटके लग रहे हैं। सबसे पहले शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से इस्तीफा देकर पार्टी छोड़ी और बीजेपी में शामिल हो गए। उनके कई समर्थक, टीएमसी विधायक भी पार्टी का साथ छोड़ बीजेपी के साथ आ गए। टीएमसी का साथ छोड़ने वाले नेताओं का कहना है कि जब से पार्टी में अभिषेक बनर्जी, प्रशांत किशोर का दबदबा बढ़ा है, तब से पार्टी में सही से काम नहीं हो रहा है। बीते दिनों ममता बनर्जी ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि हमारी टीएमसी पार्टी पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है। सरकार तो टीएमसी की ही बनेगी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD