[gtranslate]
Country

एनसीआर का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर रहा नोएडा

दिवाली आने से पहले ही पूरे देश में प्रदूषण का स्तर का बढ़ने लगता है। साल के इन महीनों में सबसे अधिक वायु प्रदूषण फैलता है। वर्तमान एनसीआर क्षेत्र के प्रदूषण के आंकड़ों के अनुसार नोएडा और ग्रेटर नोएडा एनसीआर के दूसरे सबसे प्रदूषित शहर रहे। दोनों शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 254 रहा। वहीं पहले स्थान पर फरीदाबाद एवं तीसरे स्थान पर गाजियाबाद और चौथे स्थान पर दिल्ली रहा।

पिछले दिनों होने वाली बारिश के कारण वायु प्रदूषण का स्तर गिरा हुआ था जो अब बढ़ता जा रहा है। जिसके कारण आने वाले दिनों में यहां की जहरीली हवा में सांस लेना लोगों के लिए मुश्किल हो जायेगा। क्योंकि बीते दिनों नॉएडा के वायु प्रदुषण की स्थिति काफी ख़राब नजर आई है। जिसके अनुसार नोएडा और ग्रेटर नोएडा एक्यूआई स्तर नीचे गिरता जा रहा है।

 

प्रदूषण को रोकने के लिए लगाए गए नियम बेअसर

 

बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार निरंतर प्रयासरत है। जिसके लिए वह नए-नए नियमों को लागू करती रहती है। लेकिन नियमों के बावजूद वायु प्रदूषण कम होता नजर नहीं आ रहा है। ऐसा ही एक नियम दिल्ली सरकार ने एक अक्टूबर को लागू किया जिसका नाम ‘ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान’ (जीआरएपी) है। लेकिन इसका भी सकारात्मक प्रभाव नजर नहीं आया है। क्योंकि जनता द्वारा इस नियम के अंतर्गत आने वाले नियमों कानूनों का पालन नहीं किया जा रहा है। हालांकि इन नियमों का किस हद तक पालन किया जा रहा है इसकी जानकारी देने के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप भी बनाया गया है लेकिन गौतम बुद्ध नगर की और से कोई जानकारी नहीं दी जा रही है।

 

क्या है ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान

 

बढ़ रहे वायु प्रदुषण को दिल्ली सरकार ने 1 अक्टूबर को यह नियम लागू किया है जिसके तहत अगर वायु गुणवत्ता मध्यम स्तर पर खराब होती हैं ( एक्यूआई : 201-300) तो सड़कों की सफाई, ईट के भट्टों, उद्योगों को निर्देश जारी किए जाते हैं।
जब वायु गुणवत्ता ज्यादा खराब होती है तो ( एक्यूआई : 301-400) तो डीजल जनरेटरों पर रोक लगा दी जाती है, पार्किंग फ़ीस में बढ़ोतरी की जाती है तथा बस, पेट्रो की संख्या में वृद्धि की जाती है।
वायु गुणवत्ता बहुत अधिक खराब होती है तो ( एक्यूआई : 401-450) पत्थर तोड़ने वाले, ईंट भट्ठों को बंद कर दिया जाता है तथा सडकों की नियमित सफाई की जाती है।
और जब वायु की में प्रदूषण एक सीमा से बाहर हो जाता है तो ( एक्यूआई : 450 से अधिक) दिल्ली में ट्रकों की एंट्री पर रोक लगा दी जाती है, निर्माण कार्यों को रोक दिया जाता है, ऑड-ईवन जैसे कार्यक्रम लागू कर दिए जाते हैं तथा स्कूलों में अवकाश की घोषणा की जाती है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD