[gtranslate]
Country

मीडिया ने महिमामंडित किया तो नाराज हो गए नोएडा के पुलिस कप्तान 

किसी भी आफिसर और उसके विभाग की मीडिया कवरेज होने पर संबधित अधिकारी फूले नही समाते है। अधिकारी अखबारो में प्रकाशित खबर को सीना चौडा करते हुए बघारते देखे जाते है । लेकिन गौतमबुदद्ध नगर ( नोएडा )  के वरिष्ठ पुलिस अधिक्षक इस मामले में सबसे अलग है। वह मीडिया द्वारा महिमामंडन के बिलकुल खिलाफ है। खासकर तब जब  कार्यवाही किसी और की हो श्रेय किसी और को मिलता है। ऐसा ही कुछ वाक्या कल हुआ जब परिवहन विभाग की मेहनत पर मीडिया ने पानी फेरते हुए इसका श्रेय पुलिस विभाग को दे दिया। इससे पुलिस कप्तान वैभव कुमार बेहद नाराज है।
गौतमबुद्ध नगर के  एसएससपी वैभव कृष्ण ने एक अभियान चलाया । जिसके तहत आये दिन नोएडा में यातायात समस्या , जाम की समस्या और अतिक्रमण की समस्याओं की शिकायत पर उन्होंने संज्ञान लेते हुए “ऑपरेशन क्लीन” नामक अभियान चलाया । जिसके अब तक पांच एपिसोड हो चुके है ।
ऑपरेशन क्लीन चार में जिले के परिवहन अधिकारीयों की मौजूदगी में भोर में चार बजे से शाम सात  बजे तक यह अभियान नोएडा में एक्सप्रेस वे समेत कई जगहों पर चलाया गया । जिसमें 73 बसों को सीज किया गया।  जिसको लेकर नोएडा वासियों ने पुलिस की बड़ी वाहवाही की । क्योंकि इन अवैध बसों के चलते रोड एक्सीडेंट , हर समय शहर में जाम के हालात बने रहते है । यह उनकी एक बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है ।

इससे मीडिया से नाराज एसएसपी वैभव कुमार ने कहा है कि मीडिया को भी अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभानी होगी ।  लोगों को गुमराह न करें । मेरे साथ इस तरह का कुछ भी नहीं हुआ । आप भी सत्य तथ्य रखो । अन्य प्रामाणिक पत्रकारों की तरह जिम्मेदार पत्रकारिता में विश्वास रखें । ताकि समाज को हमेशा सच की जानकारी मिले और लोंगों के मीडिया के प्रति बने अटूट विश्वास में कोई कमी न आये ।

बता दें कि ऑपरेशन क्लीन चार को लेकर एसएसपी ने बताया है कि यह कार्य परिवहन विभाग और नोएडा पुलिस का संयुक्त काम था । चूँकि बसें चालान करना और उनकी जांच करना परिवहन विभाग के अंदर आता है । तो यह सीज की कार्यवाही परिवहन अधिकारीयों ने की है । नोएडा पुलिस की जिम्मेदारी उस समय केवल कानून व्यवस्था को सुद्र्ढ करना रहा है ।

You may also like