[gtranslate]
Country

भजनपुरा हत्याकांड में बड़ा खुलासा, आत्महत्या नहीं धारदार हथियार से की गई हत्या

भजनपुरा हत्याकांड में बड़ा खुलासा, आत्महत्या नहीं धारदार हथियार से की गई हत्या

दिल्ली के भजनपुरा इलाके से बुधवार को हुए एक ही परिवार के पांच सदस्यों की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है। पहली नजर में इसे आत्महत्या के रूप में देखा जा रहा था। लेकिन अब दिल्ली पुलिस की जाँच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि सभी लोगों ने आत्महत्या नहीं बल्कि उनकी हत्या की गई थी। खबरों के मुताबिक, फरेंसिक टीम ने घटनास्थल से जो सबूत जुटाए हैं उससे सामने आया है कि मृतकों के सिर पर पहले हथौड़े से वार किया गया उसके बाद शवों को आरी से काटा गया था।

बुधवार को भजनपुरा में एक ही घर से पांच शव संदिग्ध मिले थे जिसके बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया था। माँ-बाप के साथ तीन बच्चों की इस हत्या की खबर ने देश की राजधानी को हिलाकर रख दिया है। फिलहाल, पुलिस मामले की जाँच में जुटी हुई है। बुधवार को जब पड़ोसियों को घर से बदबू आने लगी तो उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। मामला शुरूआती दौर में बिलकुल बुराड़ी कांड जैसा लग रहा था। परिवार पहले बी-ब्लॉक में रहता था। उनकी जूस की दुकान थी। करीब छह महीने पहले ही परिवार इस मकान में रहने आया था।

शम्भूनाथ का परिवार सी-ब्लॉक, गली नंबर-11 में किराए पर रहता था। लगभग आठ महीने पहले ही उसने ई-रिक्शा खरीदा था। तीनों बच्चे यमुना विहार के सरकारी स्कूल में पढ़ते थे। परिवार बिहार का रहने वाला था। वहीं जॉइंट सीपी का कहना है कि पति-पत्नी का शव अलग कमरे में और बच्चों के शव अलग कमरे में मिले हैं। शवों की हालत देखकर लगा कि हत्या को थोड़ा समय हो गया है। घर के बाहर ताला लगा हुआ था। फिलहाल सभी पहलुओं पर जाँच की जा रही है। घर के अंदर से लूटपाट के भी सुराग नहीं मिले हैं। पुलिस के मुताबिक, हत्या पांच से छह दिन पहले की गई थी। काफी दिनों तक शव घर में पड़े रहे। जिसके कारण सभी शव पूरी तरह से सड़-गल चुके थे। जाँच में सामने आया है कि हत्या को अंजाम देने वाले शख्स ने किसी धारदार हथियार से कत्ल को अंजाम दिया था। शव के पास हथोड़ा और आरी भी बरामद हुई थी।

जाँच के दौरान, पुलिसकर्मियो को पड़ोसियों ने बताया कि 3 फरवरी से शम्भूनाथ के तीन बच्चे स्कूल भी नहीं गए थे। साथ ही शम्भूनाथ का ई-रिक्शा भी घर में ही खड़ा हुआ था। उसके मकान पर भी ताला लगा हुआ था जिसके कारण पड़ोसियों को लगा कि वह पूरा परिवार कहीं गया होगा। लेकिन जब बुधवार को घर से बदबू आने लगी तो लोगों ने पहले नगर निगम के कर्मचारी को बुलाया। लेकिन घर बंद मिला। नगर निगम के कर्मचारियों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस जब मकान का ताला तोड़कर अंदर गई तो मंजर हैरान करने वाला था। एक कमरे में दम्पति की लाश पड़ी थी और एक कमरे में तीनों बच्चों के शव पड़े थे। आस-पास खून फैला हुआ था, जो पूरी तरह से सूख चुका था। कमरे का सारा सामान भी फैला हुआ था।

पुलिस ने शम्भू के मामा से पूछताछ की तो पता चला है कि वो उससे 10-12 दिन पहले सड़क पर मिला था। इसके बाद कोई बातचीत नहीं हुई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ग्राउंड फ्लोर पर शम्भुनाथ के मकान में रहने वाला एक युवक पिछले 5-6 दिनों से गायब है। युवक सैंडविच और रोल बनाने का काम करता है। हत्याकांड में इस युवक का हाथ भी हो सकता है।

छानबीन से जुड़े एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच के लिए मृतक के फोन की सीडीआर निकलवाकर जाँच करवाई जा रही है। वहीं पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालकर इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रही है कि वारदात में किन लोगों का हाथ हो सकता है। क्राइम टीम के अलावा एफएसएल की टीम ने घर से कुछ अहम सक्ष्य जुटाए हैं। उनके आधार पर पुलिस आरोपियों की पहचान कर करने का प्रयास कर रही है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD