[gtranslate]
Country

महिलाओं के वोट पर हर पार्टी की नजर

मध्य प्रदेश में हो रहे हर तरह के चुनाव में महिलाएं बड़ी भूमिका निभा रही हैं। वे जीत में एक बड़ा कारक साबित हो रही हैं। उनका वोट प्रतिशत लगातार बढ़ा है। इस बार भी राज्य में पंचायत चुनाव जीतने में महिलाएं अहम भूमिका निभाएंगी। इसलिए सभी पार्टियों और उनके उम्मीदवारों की नजर महिला वोटरों पर है। बीजेपी जहां महिलाओं को जीत का प्रतीक बता रही है वहीं कांग्रेस का कहना है कि महिलाएं लोकतंत्र को जिंदा रख रही हैं। शहरों में ही नहीं गांवों में भी महिलाएं अपने घरों से बाहर निकल कर मतदान कर रही हैं।

जानकारी के अनुसार 2005 के बाद से मध्य प्रदेश में महिलाओं का प्रतिशत लगातार बढ़ा है। 2005 से अब तक महिलाओं ने पुरुष मतदाताओं के बराबर ही मतदान में हिस्सा लिया है। 2014-15 के चुनावों में, महिला मतदाताओं ने वोट प्रतिशत के मामले में पुरुष मतदाताओं की बराबरी की। वर्ष 2004-05 में पुरुष मतदाताओं का वोट प्रतिशत 78.84% और महिला मतदाताओं का 74.58% था। 2009-10 में पुरुष मतदाताओं का वोट प्रतिशत 81.7% था जबकि महिला मतदाताओं का वोट प्रतिशत 79.21% था। वर्ष 2014-15 में पुरुष मतदाताओं का वोट प्रतिशत 83.59% था जबकि महिला मतदाताओं का वोट प्रतिशत 83.17 प्रतिशत था।

मध्य प्रदेश चुनाव में महिलाओं के बढ़ते वोट शेयर को लेकर बीजेपी का कहना है कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद महिलाओं के कल्याण के लिए लगातार योजनाएं चलाई जा रही हैं। जीत में महिलाओं की अहम भूमिका होती है। महिलाओं ने इस बात को उत्तर प्रदेश के साथ-साथ अन्य राज्यों में हुए चुनावों में भी साबित किया है। महिलाओं का बढ़ता वोट शेयर बीजेपी के लिए अच्छा है। वहीं कांग्रेस का कहना है कि महिलाएं अब जागरूक हो रही हैं। वे ग्रामीण इलाकों में उद्यम करने की हिम्मत कर रहे हैं। महिलाएं वोट बैंक नहीं बल्कि सही निर्णय लेने की शक्ति दिखा रही हैं। महिलाओं की वजह से ही लोकतंत्र जिंदा है। इन बयानों से पता चलता है कि चुनाव में सभी पार्टियों की महिलाओं पर खास नजर है।

यह भी पढ़े : अमेरिका का एक और नया गठजोड़ आई2यू2

You may also like

MERA DDDD DDD DD