Country

मोदी के मन की बात 3 : बेटियों को सम्मानित,नशे को अपमानित

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल के तहत अपने तीसरे मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ की शुरुआत देश की महान गायिका स्वर कोकिला लता मंगेशकर के बारे में बताने से की। मोदी ने अपने इस लोकप्रिय कार्यक्रम के माध्यम से लता मंगेशकर के साथ अपनी बातचीत साझा की । बल्कि यह भी बताया कि लता जी के साथ उनका भाई-बहन का रिश्ता है । इतना ही नहीं मोदी ने अपनी मन की बात के माध्यम से देशवासियों से तंबाकू छोड़ने की अपील भी की है । उन्होंने कहा कि तंबाकू के सेवन से जानलेवा बीमारी घेर लेती है। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर देशवासियों को नवरात्रि समेत अन्य त्योहारों की बधाई दी। इसके साथ ही उन्होंने इस बार की दिवाली के अवसर पर बेटियों के सम्मान में कार्यक्रम रखने और नशे को अपमानित करने की भी अपील की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल के तीसरी मन की बात की शुरुआत कुछ इस प्रकार की। उन्होंने कहा कि आज की मन की बात में देश की महान शख्सियत की बात करूंगा । हम सभी हिंदुस्तान वासियों को उनके प्रति बहुत सम्मान है और लगाव है। वे उम्र में हम सभी से बहुत बड़ी हैं, हम उन्हें लता दीदी कहते हैं। लता दीदी 28 सितंबर को 90 वर्ष की हो रही हैं । उम्र के इस पड़ाव पर भी लता दीदी काफी ऐक्टिव हैं।

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने नवरात्रि, दशहरा, दिवाली, भाई दूज और छठ जैसे पावन पर्वों की देशवासियों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियो, नवरात्रि के साथ ही, आज से, त्योहारों का माहौल फिर एक बार, नयी उमंग, नयी ऊर्जा, नया उत्साह, नए संकल्प से भर जाएगा।

प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही कहा कि इस दिवाली नए तरीके से लक्ष्मीजी का स्वागत करें। दीपावली पर बेटियों के सम्मान में कार्यक्रम रखें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि देश में कई लोग खुशियों से वंचित हैं। इन त्योहारों पर उनके साथ खुशियां बांटें ।

अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम के तहत इस बार की मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि त्योहारों में एक तरफ जहां अधिकांश घरों में रोशनी होती है वहीं उसी के सामने कुछ के घरों में अंधेरा होता है। कुछ के घरों में जहां मिठाइयां खराब हो रही होती हैं वहीं कुछ घरों में बच्चे मिठाई के लिए तरसते रहते हैं। त्योहारों का सही आनंद तभी है, जब हर जगह से अंधेरा छठे, उजियारा फैले। हमारा स्वभाव होना चाहिए कि हमारे घरों में जो अधिकता में है उसे जरूरतमंदों को जरूर दें।

इस बार की मन की बात में पीएम ने कहा कि तंबाकू और ई सिगरेट स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। इसमें कई प्रकार के खतरनाक रसायन मिले होते है। उन्होंने कहा कि ई सिगरेट के बारे में गलत धारणा और भ्रांतियां फैलाई गई हैं। देश में ई सिगरेट प्रतिबंधित है। लेकिन इसके प्रचलन को भांपते हुए ही पीएम मोदी ने नशे की इस लत के दुष्प्रभावों को रेखांकित करते हुए देशवासियों को आगाह किया है। उन्होंने देशवासियों से तंबाकू और ई-सिगरेट का व्यसन छोड़ने की अपील की।

You may also like