Country

 मोदी का फोकस अब राजस्थान के रण पर 

नई दिल्ली। ऐसा लगता है कि छ्त्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अब अपना सारा फोकस राजस्थान के रण पर कर लिया है। रणनीति के तहत जहां एक ओर वे कांग्रेस पर तीखे हमले कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ जनता को अहसास करा रहे हैं कि राज्य का भविष्य वसुंधरा राजे के हाधों में ही सुरक्षित है। शायद मोदी अच्छी तरह जानते हैं कि चुनावी मोर्चे पर जरा सी चूक खतरनाक और सजगता फायदेमंद साबित हो सकती है। यही वजह है कि वे राजस्थान में जनसभाएं कर रहे हैं।
 नागौर में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को यह नहीं पता कि चने का पौधा होता है या पेड़ और जिन्हें यह भी नहीं मालूम कि मूंग और मसूर में क्या फर्क होता है वे आज देश को किसानी सिखाने चले हैं। इसी के साथ पीएम ने यह भी कहा कि हम यहां आपसे अपने पोते-पोती की भलाई के लिए नहीं बल्कि आपके विकास के लिए वोट मांगने आए हैं।
प्रधानमंत्री मोदी ने राहुल गांधी पर भी तीखे तंज कसते हुए कहा कि न आप चांदी का चम्मच लेकर पैदा हुए हैं न मैं, न आपके दादा-दादी राज करते थे न मेरे। राजस्थान में एक कामदार, एक नामदार के खिलाफ लड़ाई के मैदान में है। जिस जिंदगी को आप जी रहे हैं वही जिंदगी मैंने जी है। न आप सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए हैं और न ही मैं सोने का चम्मच लेकर पैदा हुआ हूं। न आपके परिवार में कोई राज किया है न ही मेरे परिवार में कोई। आज एक कामदार आपसे काम मांगने आया है।
वसुंधरा राजे सरकार की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राजस्थान में अगर पानी का इंतजाम हो जाता तो यहां के लोग सोना उगाने की ताकत रखते हैं। राजस्थान का एक बंजारा अगर एक बावरी बनवा देता है तो राजस्थान के लोग उसे भूलते नहीं हैं। वसुंधरा राजे ने तो डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई का इंतजाम कर दिया उसे कैसे भूल सकते हैं।

You may also like