[gtranslate]
Country

आजाद मैदान में लाखों किसान, पवार पहुंचे, ठाकरे ने भेजा प्रतिनिधि  

मुंबई में कल का जनसैलाब देखकर लग रहा था कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में ही नहीं महाराष्ट्र के लोगो में भी जनाक्रोश चरम पर है। महाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों से हजारों की संख्या में किसान कई किलोमीटर पैदल चलकर आजाद मैदान पहुंचे। में होने वाली रैली में शामिल होने के लिए कल शाम तक महाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों से लाखो की संख्या में किसान मुंबई पहुंच चुके हैं। किसान रैली के मद्देनजर पुलिस ने दक्षिण मुंबई स्थित आजाद मैदान और उसके आसपास के इलाकों की सुरक्षा की विशेष तैयारी की है। कानूनों के खिलाफ महाराष्ट्र के किसानों ने भी व्यापक प्रदर्शन की तैयारी की थी, उससे पहले ही लग रहा था कि रैली सफल होगी।

  इस रैली में महाराष्ट्र के 21 जिलों के हजारों किसान मुंबई के आजाद मैदान में विशाल रैली करने पहुंचे थे । इस किसान रैली में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार भी शामिल हुए ।जबकि शिवसेना के केबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे को भी रैली में शामिल होना था।  लेकिन ऐन वक्त पर वह नहीं गए।  उन्होंने अपने प्रतिनिधि को रैली में भेजा है।  राज्य सरकार में सहयोगी कांग्रेस की राज्य इकाई पहले ही इस रैली का समर्थन कर चुकी है।
 बताया जा रहा है कि रैली में विभिन्न इलाकों से किसान नासिक में जमा हुए और शनिवार को मुंबई के लिए रवाना हुए थे। जैसे जैसे यात्रा आगे बढ़ती गयी उसी दौरान रास्ते में और किसान जुड़ते रहे । मुंबई के लिए कूच करने वाले किसानों ने रात्रि विश्राम के लिए इगतपुरी के पास घाटनदेवी में पडा़व डाला था। रविवार सुबह किसान कसारा घाट के रास्ते मुंबई के लिए रवाना हुए। कसारा घट तक निकाले गए सात किलोमीटर लंबे मार्च में कई महिला किसान भी शामिल हुईं। कसारा घाट मार्च का नेतृत्व एआईकेएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक धावले और राज्य इकाई के प्रमुख किसन गुज्जर एवं महासचिव अजित नवाले ने किया।

You may also like

MERA DDDD DDD DD