[gtranslate]
Country

मध्य प्रदेश में कमलनाथ और कैलाश के बीच शुरु हुई ‘मैट्रो पोलटिक्स’

 

मध्य प्रदेश में आज प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सुपर कारीडोर पर इंदौर मेट्रो का शिलान्यास किया। इसी के साथ 26 सितंबर को भोपाल मेट्रो का भूमि पूजन होगा। मैट्रो का उद्घाटन होते ही एम पी की राजनीति में मैट्रो को लेकर सियासत शुरू हो गई है।

मैट्रो के लिए लिए ढाई सौ करोड़ के टेंडर भी हो चुके हैं । बाकी के टेंडर भी जल्द होंगे । आज शिलान्यास के दौरान नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह, गृह मंत्री बाला बच्चन, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, महापौर मालिनी गौड़,कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला, विशाल पटेल, सहित कई नेता भी शामिल रहे ।

इसी बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय यह कहकर कि मेट्रो ट्रेन उनकी देन है एमपी की राजनीति में हलचल पैदा कर दी। उन्होने कहा कि वे जब नगरीय प्रशासन मंत्री थे तब ये प्रोजेक्ट लेकर आए थे । विजयवर्गीय ने कहा कि अब सीएम कमलनाथ इसका शिलान्यास कर श्रेय लेना चाह रहे हैं ।

बहरहाल, मेट्रो को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच श्रेय लेने की होड़ से मध्य प्रदेश की सियासत फिर गर्मा गई है । साढ़े सात हजार करोड़ की लागत से बनने वाले मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का आज सीएम कमलनाथ द्वारा शिलान्यास करते ही मैट्रो पोलटिक्स शुरू गई।

इंदौर के दबंग नेता और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि पिछले 9 महीने में कमलनाथ सरकार ने भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं किया, अब मेट्रो के श्रेय की होड़ मची हुई है ।

उधर कैलाश विजयवर्गीय के आरोप पर कांग्रेस का कहना है कि मेट्रो का सपना तो 2007 में तत्कालीन नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर ने दिखाया था, 2018 तक राज्य में बीजेपी की सरकार रही, लेकिन उसने मेट्रो के शिलान्यास का एक पत्थर तक नहीं रखा ।

कांग्रेस के प्रवक्ता नरेन्द्र सलूता का कहना है कि बीजेपी सिर्फ झूठी घोषणाएं करती है । मेट्रो रेल की घोषणा कर जनता को गुमराह कर चुनाव में वोट लेते रहे, लेकिन धरातल पर नहीं ला पाए । अब कांग्रेस मेट्रो को धरातल पर लाकर लोगों को बताएगी कि हम जो कहते हैं वो करते हैं ।

 

You may also like

MERA DDDD DDD DD