[gtranslate]
Country

यूपी में चुनाव लड़ेगी मर्दानिया, जनता सुनेगी कहानियां

“लड़की हूँ लड़ सकती हूं” के नारे के साथ विधानसभा चुनाव में आगाज करने वाली कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने वादे पर अमल करते हुए उत्तर प्रदेश में सराहनीय पहल कर दी है। अपने वादे के अनुसार उन्होंने उन महिलाओं को विधानसभा के टिकट दिए हैं जो रेप पीड़िता के परिवार से हैं। यही नहीं बल्कि प्रियंका गांधी की पहल पर ही उत्तर प्रदेश में 40 प्रतिशत महिलाओं को चुनावी मैदान में उतार दिया गया है।

प्रियंका गांधी का यह चुनावी नारा था कि उनकी पार्टी 40 प्रतिशत महिलाओं को विधानसभा में टिकट देंगी। इस तरह प्रियंका गांधी ने एक तीर से दो निशाने साधें है। पहला यह है कि वह उत्तर प्रदेश में महिलाओं को प्राथमिकता के तौर पर चुनाव मैदान में उतार रही है।

प्रियंका गांधी ने उन परिवारों की महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा है जिनकी बेटियां रेप का शिकार हुई है। इससे कांग्रेस उत्तर प्रदेश में सत्तासीन योगी सरकार पर चुनाव के बहाने जमकर बार करेगी। उन पीड़ितों की कहानी सुनाएगी जिनके साथ ज्यादतिया हुई है। ऐसी महिलाओं की कहानियां सुना कर कांग्रेस प्रदेश में योगी सरकार के खिलाफ माहौल बनाएगी। इसी के साथ कांग्रेस महिलाओं के प्रति सहानुभूति बनाने की तैयारी में है।

आज कांग्रेस ने 125 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। जिसमें 50 प्रतिशत महिलाएं हैं ।इनमें उन्नाव रेप पीड़िता की मां आशा रानी को टिकट दिया गया है। जबकि लखीमपुर में चीरहरण कांड की पीड़िता रितु सिंह को भी टिकट दिया गया है। इसके अलावा शाहजहांपुर में मानदेय को लेकर योगी सरकार के खिलाफ आंदोलन करने वाली आशा वर्कर पूनम पांडे को पार्टी का प्रत्याशी बनाया गया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी कहती है कि हमारी उन्नाव की प्रत्याशी उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मां है। हमने उनको मौका दिया है कि वह अपना संघर्ष जारी रखें। जिस सत्ता के जरिए उनकी बेटी के साथ अत्याचार हुआ उनके परिवार को बर्बाद किया गया वहीं सत्ता हासिल करें। इसी तरह आशा बहनों ने करोना में बहुत काम किया । लेकिन उन्हें पीटा गया। उन्हीं में से एक पूनम पांडे हैं। जिन्हें पार्टी ने टिकट दिया है। इसी के साथ ही प्रियंका गांधी कहती है कि हमने महिलाओं की बात शुरू की तो सभी पार्टियां घोषणा करने लगी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD