[gtranslate]
Country

सीबीआई दफ्तर पहुंचे मनीष सिसोदिया, बोले- पूरा केस फर्जी

दिल्ली सरकार की नई शराब नीति को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है,बल्कि बढ़ता ही जा रहा है। अब इस मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को समन जारी करके आज यानी 17 अक्टूबर को पूछताछ करने के लिए बुलाया है। लेकिन आम आदमी पार्टी ने दवा किया है कि केंद्रीय जांच एजेंसी मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार करने के लिए बुलाया है।

 

इस मामले पर खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि,मेरे खिलाफ पूरी तरह से फर्जी केस बनाकर इनकी तैयारी मुझे गिरफ्तार करने की है। मुझे आने वाले दिनों में चुनाव प्रचार के लिए गुजरात जाना था। ये लोग गुजरात बुरी तरह से हार रहे हैं इनका मकसद मुझे गुजरात चुनाव प्रचार में जाने से रोकना है। इतना नहीं उन्होंने यह भी कहा कि जब जब मैं गुजरात गया, मैंने गुजरात के लोगों को यही कहा कि हम गुजरात में भी आपके बच्चों के लिए दिल्ली जैसे शानदार स्कूल बनायेंगे। लोग बहुत खुश हैं,लेकिन ये लोग नहीं चाहते कि गुजरात में भी अच्छे स्कूल बनें, गुजरात के लोग भी पढ़ें और तरक्की करें।

केंद्रीय जांच एजेंसी के दफ्तर जाने के दौरान  सबसे पहले मनीष सिसोदिया घर से तिलक लगाकर, मिठाई खाकर मुस्कुराते हुए सीबीआई दफ्तर के लिए रवाना हुए। इसके बाद वो पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ राजघाट गए । उसके बाद वहां से सीबीआई के दफ्तर तरफ रवाना हुए। इसको देखते हुए सीबीआई मुख्यालय के पास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इतना ही नहीं मनीष सिसोदिया के घर के आसपास आप कार्यकर्ता न जुटें, इसलिए धारा 144 लगाई गई है सीबीआई मुख्यालय की ओर जाने वाले दोनों रास्तों पर पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी है। यहां बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। अर्धसैनिक बल के जवानों की भी तैनाती की जा रही है। इससे पहले भी आम आदमी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सीबीआई मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर चुके हैं। ऐसे में दिल्ली पुलिस को आशंका है कि आज भी हंगामा हो सकता है। हंगामे की आशंका को देखते हुए दिल्ली पुलिस पहले से ही अलर्ट मोड में है।

इस मामले पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि सीबीआई और भारतीय जनता पार्टी ने एक नोटिस भेजकर मनीष सिसोदिया को पूछताछ नहीं बल्कि गिरफ्तारी करने के लिए बुलाया है।गुजरात में मनीष सिसोदिया का रैलियां, सभाएं और प्रचार का कार्यक्रम लग रहा है, उससे पहले यह नोटिस भाजपा की हार और हताशा का संकेत है।गुजरात में भाजपा को हार का डर सता रहा है, रातों की नींद हराम हो गई है।  भाजपाइयों के पास सिर्फ आम आदमी पार्टी के नेताओं का उत्पीड़न और जेल में डालने का काम बचा है। गुजरात में आम आदमी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी की सीधी टक्कर है।

क्या है पूरा मामला

कुछ महिले पहले भाजपा ने केजरीवाल सरकार की शराब नीति पर सवाल उठाए थे। उस दौरान भाजपा ने इस नीति में भ्रष्टाचार और अनियमितताओं के आरोप लगाते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी। जिस पर दिल्ली के एलजी वीके सक्सेना ने मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद सीबीआई जांच के आदेश दिए थे। इस रिपोर्ट में नीष सिसोदिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए थे। दिल्ली का एक्साइज विभाग मनीष सिसोदिया के अधीन है। विवाद बढ़ने के बाद केजरीवाल सरकार ने इस शराब नीति को वापस ले लिया था। इसके बाद सीबीआई ने मनीष सिसोदिया के आवास पर छापेमारी की थी। इस मामले में अब सीबीआई ने डिप्टी सीएम सिसोदिया को पूछताछ के लिए बुलाया है। सीबीआई ने इस मामले में इंडो स्पिरिट्स के मालिक समीर महेंद्रू, गुरुग्राम में बिग रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक अमित अरोड़ा और इंडिया अहेड के प्रबंध निदेशक मूथा गौतम समेत कई लोगों से पूछताछ की है। सीबीआई ने अब तक आबकारी नीति मामले में 10 आरोपियों के बयान दर्ज किए हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD